जिंदगी क्या है – जिंदगी पर कविता – Poem On Life In Hindi Language

जिंदगी पर कविता

Zindagi Kya Hai ? – Zindagi Par Kavita – पोएम ऑन लाइफ इन हिंदी लैंग्वेज : हमारी यह जिंदगी बहुत बड़ी है जिसमे की हमें बहुत तरह की मुसीबतो से गुज़रना पड़ता है इसीलिए जिंदगी के ऊपर कई तरह के कवियों व शायरों ने अपने विचार रखे है जिन्हे की शायरियो, कविताओं व विचारो का नाम दिया गया है | अपनी जिंदगी में इंसान क्या क्या करता है ? किस तरह से अपने जीवन जीता है ? इसके बारे में पूरी जानकारी एक ही कविता में बताई जाती है इसीलिए हम आपको कुछ मशहूर शायरों द्वारा जिंदगी के ऊपर कविताएं बताते है जो की आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है |

भी देखे : प्रेरणादायक कविताएँ

जिंदगी पर कविताएं – Poem For Life In Hindi

अगर आप जिंदगी क्या है जानने के लिए, हिम्मत और ज़िन्दगी पर कविता, poem on water is life in hindi, poems on life in hindi with images, poem on village life in hindi, poem on wildlife conservation in hindi, poem on life in hindi language, poem on hostel life in hindi या poem on engineering college life in hindi के बारे में जानने के लिए यहाँ से जान सकते है :

जिंदगी को आज हम
अपने मुताबिक करते हैं,
खुशनुमा है जिंदगी आज
ये हम साबित करते हैं।
जब दर्द ये दिल का बढ़ जाए
उस दर्द को अपनी दवा बना,
जो निकले चीख कभी फिर तो
उस चीख से अपना जोश बढ़ा,
चलता जाना अपने रस्ते
मंजिल की तरफ अब कदम बढ़ा,
आज इस नीरस मन को
फिर से उत्साहित करते हैं,
खुशनुमा है जिंदगी आज
ये साबित करते हैं।
कुछ कहते हैं मजबूर हैं हम
उस वक़्त से कुछ अभी दूर हैं हम,
लेकिन इतिहास ये कहता है
मजबूरी ही बनती ताकत,
जब लहू रगों में दौड़ता है
और हिम्मत की होती है आहट,
ऐसे ही गुणों को हम
खुद में समाहित करते हैं,
खुशनुमा है जिंदगी आज
ये साबित करते हैं।
इस दुनिया में सब इंसान नहीं
इंसान वो है जो खुश रह जीता है,
पर जिसको देखो वहीँ यहाँ पर
झूठे से आंसू रोता है,
और नहीं कोई हम ही
अपने हालातों के जिम्मेदार हैं,
तो आज अभी से खुद को हम
खुशियों पर आधारित करते हैं,
खुशनुमा है जिंदगी आज
ये साबित करते हैं।
है यही समय यही अवसर है
है कोई नहीं बस एकसर है,
चल आज दिखा दे दुनिया को
आने वाली तेरी सहर है,
न रोक सकेंगे अब हमको
ये राह में जो कांटे, पत्थर हैं,
आज दूर दिल से हम
अपने सुगबुगाहट करते हैं,
खुशनुमा है जिंदगी आज
ये साबित करते हैं।

भी देखे : शिक्षक विदाई कविता

Sad Poem On Life In Hindi – Poem On Moral Values Of Life In Hindi

क्यों चाहूँ मैं तुम्हे , तुम भले मेरी तकदीर सही ,
क्यों सराहूं मैं तुम्हे, तुम चाहे मेरे करीब सही,
क्यों तेरे ख़याल मुझे रहने नहीं देते तन्हा ,
मेरी लिखावट में घुल जाती है तेरी बेवफाई सही,
तू कोई अपना तो नही था ,फिर भी तेरे लिए ये खलती है ये दूरियाँ भी कहीं ….
रिश्ता कुछ अपनों सा है ,
रिश्ता कुछ सपनों सा है,
थोड़ा अजनबी सा है,
थोड़ा पहचाना सा है….
तुम्हारा इन्तजार करूँ??
या आगे का सफर तय करूँ??
हर रास्ते पर मोड मिलते हो कहीं ना कहीं
तो मुस्कुरा देगें हमसफर रेलगाड़ी के हो जैसे…..

Poem On School Life In Hindi – Poem On Student Life In Hindi – Hindi Poems On Life For Students

बनते बिगड़ते हालातों का
हिसाब है जिंदगी,
हर रोज एक नया पन्ना जुड़ता है जिसमें
वो ही एक किताब है जिंदगी।
हर पल एक नया किस्सा,
तैयार रहता है अपना अंत पाने को,
ग़मों के दौर में, खुशियों की राह तकते हैं कई लोग
तड़पते हैं पेड़ और पंछी पतझड़ में जैसे बसंत पाने को।
कभी कड़ी धूप सी परेशानियाँ
जलाती रहती हैं दर्द की एक आग सीने में,
कभी खुशियों में आनंद मिलता है तो
खुशबू आती है पसीने में,
मजबूरियों का सिलसिला
चलता रहता है सबकी राहों में,
बदल देते हैं वो शख्स कायनात अपनी
होती है जान हौसलों की जिनकी बाहों में।
छिपा कर रखती है कई राज अनजाने से
कहने को वो हिजाब है जिंदगी
हर रोज एक नया पन्ना जुड़ता है जिसमें
वो ही एक किताब है जिंदगी।

जिंदगी क्या है

Poem on College Life in Hindi – Poem on Importance of Education In Our Life In Hindi

यह हैं जिंदगी का सच,
जो चाहा कभी पाया नहीं|
जो पाया कभी सोचा नहीं,
जो सोचा कभी मिला नहीं|
जो मिला रास आया नहीं,
जो खोया वो याद आता हैं,
पर जो पाया संभाला जाता नहीं|
क्यों अजीब भी पहली हैं जिंदगी,
जिसको कोई सुल्जा पता नहीं|
जीवन में कभी समजोता करना पड़े तो कोई बड़ी बात नहीं हैं,
क्योंकि जुकता वही हैं जिसमे जान होती हैं,
अकाद तो मुर्दे की पहचान होती हैं|
जिंदगी जीने के 2 तरीके होते है,
पहला: जो पसंद है उसे हासिल करना सिख लो,
दूसरा: जो हासिल हैं उसे पसंद करना सिख लो|
जिंदगी जीना आसान नहीं होता,
बिना संगर्ष कोई महान नहीं होता|
जब तक न पढ़े हथोड़े की चोट,
पत्थर भी भगवन नहीं होता|
जिंदगी बहुत कुछ सिखाती हैं,
कभी हंसती है तो कभी रुलाती हैं|
पर जो हर हाल में खुस रहते है,
जिंदगी उनके आगे सर जुकती हैं|
चेहरे की हंसी से हर गम चुराओ,
बहुत कुछ बोलो पर कुछ न छुपाओ|
खुद न रूठो कभी पर सब को मनाओ,
राज़ हैं ये जिंदगी का बस जीते चले जाओ|
यही हैं जिंदगी का सच|

यहाँ भी देखे : हास्य कविता सुरेन्द्र शर्मा 

Short Poem on Life in Hindi – Best Poem on Life in Hindi

शार्ट पोएम ऑन लाइफ इन हिंदी – बेस्ट पोएम ऑन लाइफ इन हिंदी : अगर आप poem on rural life in hindi, poem on farmers life in hindi, poem on women’s life in hindi, hindi poems on life for class 8, poem on life struggle in hindi, nice poem on life in hindi, short poem on water is life in hindi, hindi poems on life of a woman, funny poem on hostel life in hind,i poem on discipline in students life in hindi या poem on my aim in life in hindi के बारे में जानना चाहे तो यहाँ से जान सकते है :

जिंदगी के बहुमूल्य पल बन जाते हैं, लम्हे,
जिंदगी का गुजरा कल बन जाते हैं, लम्हे।
यादों के खजाने से निकल-निकल कर आते हैं,
वो लम्हे, लम्हा-लम्हा बेकरारी का लम्हा दे जाते हैं । ।
गीली मिट्टी की सौंधी खुशबू से महक जाते हैं लम्हे,
पत्तों पर ओस की बूंद से ढुलक जाते हैं, लम्हे।
क्यूंकर सावन की पहली बारिश से बरस जाते हैं,
आंखों में फिर धुंआ-धुंआ से छलक जाते हैं, लम्हे।
जब कभी वक्त की कसौटी पर खरे उतर जाते हैं,
वो लम्हे, यादगारी के तब भी लम्हे दे जाते हैं।।

Hindi Poems On Life By Harivansh Rai Bachchan – Funny Poem on School Life in Hindi

मोम की मानिंद, कैसे पिघल-पिघल जाते हैं,
ढलती रेत से हाथों से फिसल जाते हैं, लम्हे ।
किताब के सूखे फूल-सी धुंधली याद बन जाते हैं,
तब सफर में हमसफर सा साथ दे जाते हैं लम्हें। > जब छलक कर नम आंखों का जल बन जाते हैं,
वो लम्हे, नासूरी का लम्हा-लम्हा दर्द दे जाते हैं। > कभी शब्दों का, कभी लफ्जों का खेल, खेल जाते हैं,
कभी कलम के फूल, बन अंगार ढह जाते हैं, लम्हे।
मीठी-मीठी बातों में चुप के सौ पहरे बन जाते हैं,
फिर रूह को छूकर अनकहे ही गुजर जाते हैं, लम्हें।
जब ठहरे पानी में पत्थरों से, हलचल कर जाते हैं,
वो लम्हे, आईने को तकते, एक इतिहास बन जाते हैं।।

Poem On Life In Hindi Language

Hindi Poems on Life by Famous Poets – Poem on Aim of My Life in Hindi

कभी धूप कभी छाया है
कभी सत्य कभी माया है
बीत रही इस जिंदगी का
राज़ किसने पाया है?
कभी आस कभी विश्वास है
खुशदिल है कभी उदास है ,
महफ़िलों में नजर नहीं आती है
तन्हाई में दुश्मन जैसे पास है,
कभी हंसाया है इसने जी भर कर हमें
और कभी जी भरकर रुलाया है,
बीत रही इस जिंदगी का
राज किसने पाया है?
किसी के लिए सरताज है जिंदगी
कभी दो वक़्त की रोटी की मोहताज है,
कोई रो-रो कर निकाल रहा है
किसी के लिए एक बिंदास अंदाज है जिंदगी
कोई ठोकरों से टूट गया है देखो
किसी ने दूसरों की जिंदगी को सजाया है
इस बीत रही जिंदगी का
राज किसने पाया है?
नफरत की आग लिए दिल में
जलते रहते हैं कई लोग
और कुछ
खुशियों की दवाई बाँट रहे हैं
मिटाने को ग़मों के रोग,
जिंदगी ने अपने रूप से हमें
इस तरह से मिलाया है,
इस बीत रही जिंदगी का
राज किसने पाया है?

यहाँ भी देखे : अमीर खुसरो की रचनाएँ

Hindi Poems on Life For Class 8, 10 – Poem on Truth of Life in Hindi

खुशनुमा दौर चल रहा था जिंदगी का
कि मुसीबतों ने डेरा डाल सब कुछ हिला दिया
सबक अधूरा ही था अभी जिंदगी का
और इम्तिहानों के दौर ने जीना सिखा दिया।
टूटते हौसलों को संभाल रहा था मैं
जब देखा न गया ज़माने से
तो हर कदम पर नया जाल बिछा दिया
बदल गया नजरिया हमारा दुनियादारी का
पर्दा आंखों से हमने झूठी उम्मीदों का गिरा दिया।
उठता रहा हर बार मैं गिर-गिर कर
मुश्किलों की चट्टानों पर मैंने
कामयाबी का निशान बना दिया।
वक्त के साथ बीत गया बुरा दौर जिंदगी का
टूटे हुए अरमानों को बटोर
हमने नया मुकाम बना लिया।
बर्दाश्त न हुआ जो देखने वालों से
बर्बाद करने को मुझे
हर बार नया राह बना लिया।
गिराते रहे मुझे मेरे अपने ही
हर बार गिरते ही मैंने हौंसला बढ़ा लिया।
शुक्रगुजार हूं खासकर चाहने वालों का मेरे
मुझे बदनाम करने की कोशिशों ने इनकी
जमाने भर में “गुमनाम” मेरा नाम बना दिया।
सबक अधूरा ही था अभी जिंदगी का
और इम्तिहानों के दौर ने जीना सिखा दिया।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*