म्यांमार बॉर्डर सर्जिकल स्ट्राइक

म्यांमार बॉर्डर सर्जिकल स्ट्राइक

Myanmar Border Surgical Strike : आज की सबसे बड़ी Breaking News यह है की  इस समय Indian Army ने एक और ऑपरेशन को अंजाम देते हुए म्यांमार के नगा उग्रवादियों को मार दिया है यह खबर आज सुबह आयी है जिसके मुताबिक भारतीय सेना ने म्यांमार आतंकी संगठन NSCN-K के कई अटनाकियो को मार गिराया है | इसीलिए हम आपको बताते है की म्यांमार में क्यों आतंकी संगठन को घुस के मार गिराया ? आज की इस सबसे बड़ी खबर के लिए आप हमारी इस खास पोस्ट को पढ़े और जाने इस सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में पूरी जानकारी |

Myanmar Surgical Strike By India

म्यांमार सर्जिकल स्ट्राइक बय इंडिया : 27 सितम्बर बुधवार के दिन भारतीय सेना ने एक बार फिर म्यामांर के आतंकी संगठन को मार गिराया है आज सुबह करीब 4:45 पर भारतीय सेना ने म्यांमार सीमा पर लांग्खू गांव के पास गोलीबारी की जिस गोलीबारी में कई आतंकी ढेर किये और उनके पूरे कैंप को तबाह कर दिया | भारतीय सेना ने जहाँ इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है वह जगह भारत-म्यांमार बॉर्डर से 10-15 किलोमीटर की दुरी पर है |

Myanmar Surgical Strike By India

Surgical Strike In Myanmar | India Surgical Strike

सर्जिकल स्ट्राइक इन म्यांमार | इंडिया सर्जिकल स्ट्राइक : जब मीडिया ने सेना ने बातचीत की उनके द्वारा बताया गया की पहले भारतीय सेना की एक टुकड़ी पर अज्ञात आतंकियों ने फायरिंग की तब उसके जवाब में जवाबी फायरिंग होने लगी तभी उस आतंकी संगठन के सभी आतंकवादी मार गिराए गए लेकिन कुछ उग्रवादी भाग खड़े हुए | सेना ने इस बात से साफ़ इन्कार किया है की यह कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं है उनकी सेना ने बॉर्डर की सीमा को पार नहीं किया है | यह केवल एक ऑपरेशन है जिसमे की जवाबी फायरिंग में सभी उग्रवादियों को भारतीय ने मार गिराया और किसी भी भारतीय सैनिक को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचा |

Surgical Strike Myanmar

सर्जिकल स्ट्राइक म्यांमार : भारतीय सेना ने म्यांमार बॉर्डर पर सबसे पहले सर्जिकल स्ट्राइक सन 2015 में की थी उस समय में जून में महीने में भारतीय सेना ने बॉर्डर क्रॉस करके ऑपरेशन किया जिसमे की करीब 15 आतंकियों को भारतीय सेना ने ढेर किया | भारतीय सेना ने यह कार्यवाई भारतीय सेना पर मणिपुर के चंदेल में हुए हमले के बाद की गयी थी जिस हमले में भारतीय सेना के करीब 18 सैनिक मारे गए थे | इस हमले में उन्होंने NSCN (K) और KYKL के सभी उग्रवादियों को मौत के घाट उतार दिया था |

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*