त्यौहार

Lohri kaise manaye

लोहड़ी क्या है : लोहड़ी एक लोकप्रिय त्यौहार है यह त्यौहार पुरे एशिया में पंजाबी धर्म के लोगो द्वारा बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है पंजाबियो के लिए लोहड़ी बहुत महत्त्व रखती है लोहड़ी के त्यौहार के दिन पंजाबी लोग कई दिन पहले से ही अपने घर में मेवे, रेवड़िया, इकट्ठा करने लग जाते है जिससे की लोहड़ी वाले दिन खुशियो के साथ इस त्यौहार को मना सके लोहड़ी वाले दिन लोग अपने घर के आंगन में या घर के पास लकडियो से आग जलाते है और उस आग के चारो तरफ घूम कर नाचते गाते है और एक दूसरे को मेवे और रेवड़िया खिलाकर इस शुभ दिन की बधाई देते है |

यह भी देखे : कैसे करे शिव पूजा

लोहड़ी क्यों मनाई जाती है ?

इस साल लोहड़ी जनवरी महीने के 13 तारीख को दिन शुक्रवार को पड़ेगी ये त्यौहार पुरे भारत में बड़ी उत्साह के साथ मनाया जाता है पंजाबियो में लोहड़ी के त्यौहार को बहुत मान्यता दी जाती है इसमें कुछ जानकारी आज हम आपको बताएँगे की क्यों ये त्यौहार इतनी श्रद्धा और उत्साह के साथ मनाया जाता है वैसे तो भरत के कई हिस्सो में लोहड़ी त्यौहार मकर संक्राति के नाम से मनाया जाता है यह एक लोककथा है जिसके अन्तर्गत एक कहानी के अनुसार कहा जाता है कि दूल्हा भट्टी नाम का एक डाकू था,जो लूट-मार करके गरीब लोगों की मदद करता था। उसने मुश्किल समय में सुंदरी और मुंदरी दो अनाथ बहनों की मदद की। जिनको उसके चाचा ने जमीदारों को सौप दिया था। दूल्हे ने उन्हें जमीदारों के चंगुल से छुड़ाकर लोहड़ी की इसी रात आग जलाकर उनकी शादी करवा दी और एक सेर शक्कर उनकी झोली में डालकर विदाई की। माना जाता है कि इसी घटना के कारण लोग लोहड़ी का त्यौहार मनाते हैं। दूल्हा भट्टी को आज भी प्रसिद्ध लोक गीत ‘सुंदर-मुंदिरए’ गाकर याद किया जाता है पारंपरिक मान्यता के अनुसार, लोहड़ी फसल की कटाई और बुआई के तौर पर मनाई जाती है. लोहड़ी को लेकर एक मान्यता ये भी है कि इस दिन लोहड़ी का जन्म होलिका की बहन के रूप में हुआ था. बेशक होलिका का दहन हो गया था किसान लोहड़ी के दिन को नए साल की आर्थिक शुरूआत के रूप में भी मनाते हैं|

लोहड़ी क्यों मनाई जाती है ?

यह भी देखे : कन्या पूजा

लोहड़ी के कुछ पारंपरिक गिद्दे

लोहड़ी त्यौहार मानाने के लिए लोग कई प्रकार के गीत गाते है जिनमे से कुछ प्रसिद्द गीत है जो हम आपको बताएँगे :

  • लोहड़ी पारंपरिक गिद्दे
  • सुंदर मुंदरिये, होए
  • तेरा की विचारा, होए
  • दुल्ला भट्टी वाला, होए
  • दुल्ले दी धी वियाई, होए
  • सेर शकर पाई, होए

लोहड़ी कैसे मनाये 

लोहड़ी मानाने के लिए हम कई प्रकार के नाच गाने, मिठाइयो का सेवन, और अग्नि जलाते है जिसके सामने लोग चक्कर लगाते है और नाचते है यह त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है लोहड़ी के दिन पंजाबी लोग लकडियो का एक ढेर बनाकर उसको जलाते है जिसमे कई प्रकार की मेवाओं जैसे की रेवड़ी, मूंगफली, भुने हुए मक्की के दाने को डाला जाता है लोग अग्नि के चारो और चक्कर लगाते है और नाचते गाते है और भगवन से अच्छे पैदावार होने की कामना करते है इसमें अविवाहित युवक और युवतियां घर-घर जाकर लोहड़ी मांगते है और जिस घर में कोई ख़ुशी का माहौल; होता है जैसे की बच्चे पैदा होना या नयी शादी होना उस घर से विशेष रूप से लोहड़ी मांगी जाती है जिसमे की लोहड़ी के रूप में उन्हें मूंगफली, रेवड़िया या पैसे दिए जाते है |

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top