कविता (हिंदी लेख)

दोस्ती पर कविता – Poem On Friendship In Hindi Language

Dosti Par Kavita – पोएम ऑन फ्रेंडशिप इन हिंदी : इस दुनिया में दोस्ती का रिश्ता ही एक ऐसा रिश्ता है जो रिश्ता खून का नहीं होता लेकिन फिर भी वह रिश्ता हमारे सबसे करीब होता है जिस रिश्ते के ऊपर हम आँख बंद करे भरोसा करते है | दोस्त ही एक ऐसा इंसान होता है जिससे हम अपनी सभी तरह की बाते शेयर करते है और हमें किसी तरह की कोई समस्या नहीं होती है जिसके लिए अपने दोस्तों के ऊपर शायरियां तो बहुत पढ़ी होंगी लेकिन उसके अलावा हमारे कुछ महान कवियों ने दोस्ती के ऊपर कुछ बेस्ट कविताये लिखी है जिनकी लेटेस्ट कविताओं को जानने के लिए आप यहाँ से जान सकते है |

यहाँ भी देखे : बाल दिवस पर कविता

दोस्ती पर बाल कविता

बच्चो को दोस्ती की सीख सिखाने के लिए आप दोस्ती पर गजल, बचपन की दोस्ती पर शायरी, दोस्ती पे कविता, दोस्ती पर दोहे, दोस्ती पर कहानी, मित्रता दिवस संदेश, dosti poem in hindi font, hindi poem on dosti, hindi poems on friendship by famous poets, dosti par kavita images, दोस्ती par kavita या dosti par ek kavita के बारे में यहाँ से पढ़ सकते है :

कुछ दोस्तों की ही मेहरबानियां बहुत है
दुश्मनो की जरूरत नही हमे..कुछ दोस्तों की ही मेहरबानियां बहुत है…
दुश्मनो से भी बढ़कर साबित हुए जब दोस्त ऐसी ऐसी इस दुनिया मे कहानियां बहुत ह…………
यू तो सुंदर रिश्ता दुनिया में , यारों का याराना है,,
यारी की बदौलत ही दुनिया मे हुआ मशहूर सुदामा ह….
मगर यारी वाली लहरे खो चुकी अब रवानीया बहुत ह..
ऐसी इस दुनिया में कहानियां बहुत ह..
कितनो को बर्बाद किया यारी की तीखी मारो ने……
कत्ल हुआ करते यहाँ अक्सर एतबारों के हथियारों से……
दोस्त भी अब खा चुके जवानियाँ बहुत ह….
ऐसी इस दुनिया में कहानियां बहुत है….
अ बनाने वाले तुमने ऐसा दिन भी एक काश बनाया होता……
हमने भी wish करके उनको यह अहसास दिलाया होता…..
की तुम्हारी वजह से हुई ” मोहित ” हमे परेशानियां बहुत ह…
ऐसी इस दुनिया में कहानियां बहुत ह….
दोस्तो की ही मेहरबानियां बहुत है
– मोहित मित्तल

दोस्ती कविता हिंदी – दोस्त के जन्मदिन पर कविता

है क्या एक दोस्त आज मैं आपको समझाती हूँ,
दोस्ती के वास्तविक अर्थ से मैं, आपको परिचित कराती हूँ,
पड़ी हो भारी भीड़ या कोई विकट आपत्ति,
साथ न हो जब जीवन में, कोई भी साथी संगी;
ऐसी अवस्था में दोस्त आगे बढ़कर आता है,
भरी विपत्ति से भी, अपने दोस्त को आजाद कराता है,
किसी जाति, धर्म या वंश से उसकी पहचान ना होती है,
उस दोस्त की सच्ची दोस्ती ही एक मिशाल होती है।
हर खूनी रिश्ते से ऊपर होता है औहदा जिसका,
गंगा जल के जैसा पवित्र होता है सच्चे दोस्त का रिश्ता,
बहती रहती है सदा जिसकी निर्मल पवित्र धारा,
होता है वो दोस्त जग में सबसे निराला,
पग-पग पर दोस्ती निभाने के लिए मचलता हो दिल जिसका,
होता है वो दोस्त वास्तव में मन का सच्चा,
ऐसा दोस्त मिलना जग में एक मुकाम पाने के समान है,
थाम लो ऐसे दोस्त का हाथ अगर वो आपके साथ है।।

यहाँ भी देखे : प्रकृति पर कविता हिंदी में 

मेरा प्रिय मित्र कविता

दोस्ती है अनमोल रत्न;
नहीं तोल सकता जिसे कोई धन,
सच्ची दोस्ती जिसके पास है;
उसके पास दौलत की भरमार है,
न ही जीत न ही कोई हार है,
दोस्त के दिल में तो बस प्यार ही प्यार है।।
भटके जब भी दोस्त संसार के मोहजाल में,
खींच लाता है सच्चा दोस्त उसे अच्छाई के प्रकाश में,
छोड़ देता है जग सारा जब मुश्किल भरी राह में,
सच्चा दोस्त साथ देता है तब जिंदगी की राह में।।
बने चाहे दुश्मन क्यों न जमाना सारा,
सच्चा दोस्त साथ देता है सदा हमारा,
दोस्त के लिए कुर्बान होता है जीवन सारा,
हर मुश्किल में बनता है वो सहारा।।
सच्ची दोस्ती को वक्त परखता हर बार है,
वक्त की हर परीक्षा से हसते हुए पास करना ही दोस्ती की पहचान है,
दुनिया की किसी शौहरत की न जिसे दरकार है,
सच्चा दोस्त रखने वाला संसार में सबसे धनवान है।।

यहाँ भी देखे : सफलता पर कविता

मित्रता पर छोटी कविता – Mitrata Par Kavita In Hindi

दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है
बँधी हुई जिन्दगी ने यहीं आजादी पाई है
चेहरे की रंगत इसने लौटाई है
आँखों ने ख्वाबों की दुनिया पाई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
बेगानो की भीड़ में किसी अपने से मुलाकात हो पाई है
मुस्कराहट फिर से लौट आई है
बातों के सिलसिले ने महफिल सजाई है
माहौल में खुशबू सी छाई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
जाति-धर्म ऊँच-नीच की यहाँ नहीं कोई सुनवाई है
मंदिर-मस्जिद-गुरूद्वारे-चर्च सबकी छवि इसने एक ही बनाई है
अपनेपन की भावना इसने ही जगाई है
खूबसूरती जिन्दगी में इससे ही आई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
बचपन की ताजगी इससे ही छाई है
मौसम में मस्तानगी इसने ही लाई है
उम्र के पड़ावों में इसने अपनी गहरी भूमिका निभाई है
सारी चतुराई इसने ही सिखलाई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
सपनों को हकीकत की राह इसने ही दिखाई है
हिम्मत इसने हमेशा ही बढ़ाई है
हुनर से पहचान करवाई है
सफर की थकान इसने मिटाई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
हर दर्द की होती सुनवाई है
अच्छे या हों बुरे हालात साथ इसने हमेशा निभाई है
उदासी इसने दूर भगाई है
रोते हुए चेहरे में हंसी आई है
भरोसे की ताकत इसने बढ़ाई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
सागर से भी गहरी इसकी गहराई है
बिना रस्मों के इसने कसमें निभाई है
दोस्ती दुनिया की सबसे बड़ी खुदाई है!!
– ज्योति सिंहदेव

दोस्ती पर कविता

दोस्ती टूटने पर कविता

वो जो हार में जीत का सबब बन जाये,
अंधेरे में उजाले की किरण खोज लाए,
ग़म में खुशियों की आहट बन जाये,
वो जो तुम्हारे राज़ को अपने में दफ़न कर जाये,
तुम जो लड़खड़ायो संभल कर आगे बढ़ना सिखाये,
अंधेरे में तुम्हारा साया बन जाये,
वो जो नाकामी में तुम्हारी ताकत बन जाये,
ज़िन्दगी की जंग में तुम्हारा सारथी बन जाये,
स्वार्थी और चापलूसों में घिरे हों तुम,
तुम्हारा सच्चा हितैषी बन जाये,
वो जो तुम्हें तुम्ही से मिलाये,
जब भटक रहे हों तुम पथ प्रदर्शक बन जाये,
थक जाओ तुम जब उसका कन्धा तुम्हारा सहारा बन जाये,
बहुत मुश्किल होता है सच्चा दोस्त मिलना,
जो लाखों की भीड़ में तुम्हें मिल जाये,
दोस्त की दोस्ती की खातिर दुनिया से निहत्था लड़ जाये,
अपनी सांसें दाव पर लगा जाये,
वो जो हार में जीत का सबब बन जाये|

दोस्ती पर छोटी कविता

दोस्ती, खुशी का मीठा दरिया है
जो आमंत्रित करता है हमें
‘आओ, खूब नहाओ,
हंसी-खुशी की
मौज-मस्ती की
शंख-सीपियां
जेबों में भरकर ले जाओ!
आओ, मुझमें डुबकी लगाओ,
गोता लगाओ
खूब नहाओ
प्यार का मीठा पानी,
हाथों में भरकर ले जाओ…!

यहाँ भी देखे : इंसान की इंसानियत पर कविता हिंदी

दोस्ती पर हास्य कविता – Hindi Hasya Kavita On Dosti

“मुश्किलों में ये ही साथ देते हैं
अपने ना हो पास तो
अपनों सा अहसास देते हैं
झूठ में झूठ और सच में सच
हर बात पे विचार देते हैं
गली नुक्कड़ की शान है इनसे
दोस्ती की पहचान है इनसे
ये वो ही निकम्मे हैं
जो…………
घर पर गलत फोन भी कर सकते हैं
साथ न होने पर साथ भी बता सकते हैं
छोटी सी उम्र में ही निभाते हैं बड़ो का रोल
बड़ो की बात हो, तो बन जाते हैं छोटे बच्चो से अनमोल
इन्होने शरारते सीखी हैं शुरू से ही
जिन्दा है दोस्ती की परिभाषा इन्ही से ही
कितना काम आते हैं, ये हर बात में
बहाने हजारो हैं इनके सोचने की दुकान में
इनसे न कोई मासूम होता है, इनसे न कोई खड़ूस होता है
जिनके पास ये हैं उनको ही ये सब महसूस होता है
दोस्ती करके देखो तुम भी
सोहबत में इसकी रहकर देखो तुम भी
ना पाओगे जब पास अपने
तो होंगे खुद से ही उदास तुम भी”
“खाना चुरा कर भी खाते हैं ये
अपने घर से बनवाकर भी नहीं लाते हैं ये
छीन कर खाना इनकी रगो में बसा
इन्ही आदतों से दोस्त कहलाते हैं ये ”
“दोस्ती का प्यारा सा मिजाज होता है
हर कमीना दोस्त भी खास होता है
ग्रुप की शान इकलौता दोस्त ही बढ़ाता है
इनकी हर अदा पर दिल मेहरबान होता है
सबके सामने गलतियों पर डाल देते हैं पर्दा
गर अकेले में हैं तो बातों से कर देते हैं नंगा
ये ही वो नादान हैं ये ही वो विद्वान हैं
जिनका हमारे जीवन में रहा योगदान है”
“पापा ने हमेशा कहा देखो अपने दोस्त को
उसके साथ रहते हो, तो बनो जैसा है वो
उनको नहीं मालूम उसके पपा की नजरो में
कितना बड़े वाला नालायक है वो”
“ना देखा साजन, खिलोनी सा यारा
साजन की मार में, खिलोनी बेचारा
जाम भी लगाते हैं, साथ में दोनों
आईडियो की खान, खिलोनी सितारा
लाइफ ओके की हसी का पिटारा
ऐसा हैं मैडम के पीछे साजन आवारा”
“मन ना लगे जब परिवार में
दिल दुखने लगे भरे बाजार में
केवल एक ही दोस्त को कॉल कर लेना
बहार आ जाएगी तुम्हारे संसार में”

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

you can contact us on my email id: harshittandon15@gmail.com

Copyright © 2016 कैसेकरे.भारत. Bharat Swabhiman ka Sankalp!

To Top