5 Lines On Basant Panchami – 5 लाइन्स बसंत पंचमी इन हिंदी

5 Lines On Basant Panchami

5 लाइन्स ऑन बसंत पंचमी : वसंत पंचमी के त्यौहार का इंतज़ार हम सभी लोग बहुत शिद्दत से करते है क्योकि दिन हमारे लिए बहुत महत्व रखता है यह दिन सर्दी ऋतु के जाने का सन्देश तथा बसंत ऋतु के आगमन का सन्देश होता है इस दिन ज्ञान, संगीत और कला की देवी माता सरस्वती की पूजा अर्चना की जाती है तथा सभी लोग पीले रंग के वस्त्र धारण करते है | इसीलिए हम आपको बसंत पंचमी के के बारे में कुछ लाइन बताते है जिनकी मदद से आप बसंत पंचमी के बारे में अधिक जानकारी पा सकते है और जान सकते है की हम लोग बसंत पंचमी क्यों मनाते है ?

यहाँ भी देखे : Basant Panchami Shayari

Lines On Basant Panchami In Hindi – Lines On Vasant Panchami

अगर आप बसंत पंचमी के बारे में अधिक जानकारी पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारे द्वारा बताई गयी कुछ लाइन को पढ़ सकते है जिससे की आप इस त्यौहार के बारे में अधिक जानकारी पा सकते है :

1. वसंत पंचमी का एक विशिष्ट अर्थ है: वसंत का अर्थ है वसंत, और पंचमी का अर्थ “पांचवें दिन” होता है वसंत पंचमी वसंत के पांचवें दिन पड़ती है। बसंत पंचमी एक लोकप्रिय हिंदू त्योहार है जो वसंत ऋतु के आगमन का प्रतीक है।

2. यह त्यौहार माता सरस्वती के लिए अधिक प्रसिद्ध है क्योकि वह ज्ञान, ललित कला तथा संगीत की देवी है । वसंत पंचमी या सरस्वती पूजा महान उत्साह के साथ मनाई जाती है और हिंदू मंदिरों और परिवार इस दिन पूरे उत्साह के साथ इस त्यौहार को मनाते है |

3. यह उत्सव भारत के अलावा अन्य राष्ट्रों में भी मनाया जाता है जैसे पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है |

4. बसंत पंचमी का महत्व इसीलिए भी होता है क्योकि एक तो यह मौसम बदलने का प्रतिक होता है इसके अलावा बसंत पंचमी व होली के बीच सटीक 40 दिन का अंतर होता है बसंत पंचमी के ठीक 40 दिन बाद ही होली का महान त्यौहार पड़ता है |

5. इस उत्सव को मनाने के बाद लोगो के जीवन में लोगो के बीच नवजीवन का संचार होता है चारो ओर पीली सरसों लहलहाने लगती है इसके अलावा इस ऋतु में कोयलें कूक-कूककर बावरी होती है लोग इस दिन पीले वस्त्र धारण करते है और अपने घर में लज़ीज़ पकवान बना कर इस त्यौहार को मनाते है |

यहाँ भी देखे : Basant Panchami Poem In Hindi

5 Lines On Basant Panchami In English

1. Vasant Panchami has a special meaning: Vasant means spring, and Panchami means “fifth day” occurs on the fifth day of Vasant Panchami spring. Basant Panchami is a famouse and popular Hindu festival which symbolizes the arrival of spring.

2. This festival is more famous for Mother Saraswati because she is the goddess of knowledge, fine arts and music. Vasant Panchami or Saraswati Puja is celebrated with great enthusiasm and Hindu temples and families celebrate this festival with full enthusiasm on this day.

3. This festival is celebrated in other countries other than India, such as Eastern India, northwestern Bangladesh, Nepal and many countries are celebrated with great enthusiasm.

4. Basant Panchami is also important because it is the symbol of changing the weather. Besides, there is a difference of exactly 40 days between Basant Panchami and Holi, only 40 days after Basant Panchami, there is a great festival of Holi.

5. After celebrating this festival, in the life of the people, the Navjivan is transmitted between the people and the yellow mustard is flowing around it. In addition to this season, the coils are cooked and cooked in the season, people wear yellow clothes on this day, and their house Celebrate this festival by making a delicacy dish.

Lines On Basant Panchami In Hindi

यहाँ भी देखे : बसंत पंचमी पर निबंध 2018

Lines On Basant Panchami In Punjabi

1. ਵਾਂਸਤਾ ਪੰਮਾਮੀ ਦਾ ਇਕ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਅਰਥ ਹੈ: ਵਾਂਸਟੀ ਦਾ ਅਰਥ ਹੈ ਵਸ਼ਨਾ, ਅਤੇ ਪੰਚਮੀ ਦਾ ਅਰਥ “ਪੰਜਵਣ ਦਿ ਦਿਨ” ਵਾਪਰਦਾ ਹੈ. ਬਸੰਤ ਪੰমਮੀ ਇਕ ਪ੍ਰਚਲਿਤ ਹਿੰਦੂ ਤਿਉਹਾਰ ਹੈ ਜੋ ਕਿ ਸਵਾਸਾਂ ਦੇ ਆਗਮਨ ਦਾ ਪ੍ਰਤੀਕ ਹੈ.

2. ਇਹ ਤਯੋਹਾਰ ਮਰੀ ਸਰਸਤੀ ਲਈ ਹੋਰ ਵੀ ਪ੍ਰਸਿੱਧ ਹੈ ਕਯੋਕਿ ਉਹ ਗਿਆਨ, ਭਰਮ ਕਲਾ ਅਤੇ ਸੰਗੀਤ ਦੀ ਦੇਵੀ ਹੈ. ਵਾਂਸਤਾ ਪੰਮਾਮੀ ਜਾਂ ਸਰਸਤੀ ਪਾਨਗ ਬਹੁਤ ਉਤਸ਼ਾਹ ਨਾਲ ਮਨਾਇਆ ਜਾਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਹਿੰਦੂ ਮੰਦਰਾਂ ਅਤੇ ਪਰਿਵਾਰ ਇਸ ਦਿਨ ਪੂਰੇ ਉਤਸ਼ਾਹ ਨਾਲ ਇਹ ਤਿਉਹਾਰ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ.

3. ਇਹ ਤਿਉਹਾਰ ਭਾਰਤ ਤੋਂ ਇਲਾਵਾ ਹੋਰ ਰਾਸ਼ਟਰਾਂ ਵਿੱਚ ਵੀ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ ਜਿਵੇਂ ਕਿ ਪੂਰਬੀ ਭਾਰਤ, ਪੱਛਮ ਬੰਗਾਲ, ਨੇਪਾਲ ਅਤੇ ਕਈ ਦੇਸ਼ਾਂ ਵਿੱਚ ਵੱਡੇ ਹੀ ਉਤਸ਼ਾਹ ਨਾਲ ਮਨਾਇਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ |

4. ਬਸੰਤ ਪੰਮਾਮੀ ਦਾ ਮਹੱਤਵ ਇਸਲਿਏ ਨੂੰ ਵੀ ਨਹੀਂ ਹੋਵੇਗਾ ਕਿ ਇਹ ਇਕ ਮੌਸਮ ਬਦਲਣ ਦੀ ਪ੍ਰਤੀਕ੍ਰਿਆ ਕਰਦਾ ਹੈ. ਇਸ ਤੋਂ ਇਲਾਵਾ ਬਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਅਤੇ ਹੋਲੀ ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਅਚਾਨਕ 40 ਦਿਨ ਦਾ ਅੰਤਰ ਹੈ ਬਸੰਤ ਪੰਚਮੀ ਦਾ ਠੀਕ 40 ਦਿਨ ਬਾਅਦ ਹੀ ਹੋਲੀ ਦਾ ਮਹਾਨ ਤਿਉਹਾਰ ਹੋ ਜਾਂਦਾ ਹੈ.

5. ਇਸ ਤਿਉਹਾਰ ਨੂੰ ਮਨਾਉਣ ਤੋਂ ਬਾਅਦ ਲੋਗ ਦੇ ਜੀਵਨ ਵਿੱਚ ਲੌਗਜ਼ ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਨਜੀਜੀਵਨ ਦੀ ਸੰਚਾਰ ਹੋਵੇਗੀ, ਚਾਰੋ ਵੱਲ ਪੀਲੀ ਸਰਸੋਂ ਲਹਲਹਣੇ ਲਗਦੀ ਹੈ ਇਸ ਤੋਂ ਇਲਾਵਾ ਕੋਇਲ-ਕੱਕਚਰ ਬਵਰੀ ਨੂੰ ਲੋਕ ਇਸ ਦਿਨ ਪੀਲੇ ਕੱਪੜੇ ਪਹਿਨੇ ਹੋਏ ਹਨ ਅਤੇ ਆਪਣਾ ਘਰ ਵਿਚ लज़ीज डिशव बनाओ ये त्यौहार का मनाते हैं |

You Have Also Searched For :

  • few lines on basant panchami in hindi
  • some lines on basant panchami
  • some lines on basant panchami in hindi
  • 10 ten lines on basant panchami in hindi

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*