कोट्स (Quotes)

मुंशी प्रेमचंद कोट्स | munshi premchand quotes

मुंशी प्रेमचंद कोट्स या फिर अंग्रेजी में कहा जाए तो Munshi Premchand quotes बहुत ही मशहूर एवं अनमोल विचार हैं महान कवी प्रेमचंद द्वारा दी हुए | प्रेमचंद हिंदी भाषा के सर्वप्रथम स्थान पर आने वाले आधुनिक हिन्दी-उर्दू साहित्य के लिए प्रसिद्ध लेखक व कवी थे| munshi premchand ke vichar in hindi बहुत ही प्रसिद्द भी हैं | तो आइये पढ़ते हैं प्रेमचंद के अनमोल वचन |

मुंशी प्रेमचंद कोट्स | munshi premchand quotes

  • कायरता की तरह, बहादुरी भी संक्रामक है। ~ प्रेमचंद
  • सौंदर्य को गहने की जरूरत नहीं है। मृदुता गहनों का वजन सहन नहीं कर सकता। ~ प्रेमचंद
  • स्वार्थ की माया अत्यन्त प्रबल है | ~ प्रेमचंद
  • कर्तव्य कभी आग और पानी की परवाह नहीं करता | कर्तव्य-पालन में ही चित्त की शांति है | ~ प्रेमचंद
  • भरोसा प्यार करने के लिए पहला कदम है। ~ प्रेमचंद
  • जीवन में सफल होने के लिए आपको शिक्षा की ज़रूरत है न की साक्षरता और डिग्री की। ~ प्रेमचंद
  • मेरी ज़िन्दगी सादी व कठोर है | ~ प्रेमचंद

मुंशी प्रेमचंद कोट्स | munshi premchand quotes

प्रेमचंद के अनमोल वचन | munshi premchand ke vichar in hindi

  • कुल की प्रतिष्ठा भी विनम्रता और सदव्यवहार से होती है, हेकड़ी और रुआब दिखाने से नहीं | ~ मुंशी प्रेमचंद
  • जीवन का वास्तविक सुख, दूसरों को सुख देने में हैं, उनका सुख लूटने में नहीं | ~ मुंशी प्रेमचंद
  • आकाश में उड़ने वाले पंछी को भी अपने घर की याद आती है | ~ मुंशी प्रेमचंद
  • अतीत चाहे जैसे भी हो उनकी स्मृतियां प्राय: सुखद होती हैं | ~ मुंशी प्रेमचंद
  • सफलता में दोषो को मिटाने की अनोखी शक्ति है | ~ मुंशी प्रेमचंद
  • चिंता रोग का मूल है। ~ मुंशी प्रेमचंद
  • चिंता एक काली दिवार की भांति चारों ओर से घेर लेती है, जिसमें से निकलने की फिर कोई गली नहीं सूझती। ~ मुंशी प्रेमचंद
  • क्रोध में मनुष्य अपने मन की बात नहीं कहता, वह केवल दूसरों का दिल दुखाना चाहता है | ~ मुंशी प्रेमचंद
  • जीवन की दुर्घटनाओं में अक्‍सर बड़े महत्‍व के नैतिक पहलू छिपे हुए होते हैं | ~ मुंशी प्रेमचंद

यह भी देखें : हिंदी सैड शायरी

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top