सेहत

मिर्गी का आयुर्वेदिक इलाज़

Mirgi Ka Ayurvedik Ilaj : मिर्गी (Epilepsy) एक घातक बीमारी तो नहीं लेकिन कई प्रकार से हम इसको एक भयंकर बीमारी का नाम दे सकते है क्योंकि जब मिर्गी का दौरा इंसान को पड़ता है तो उसका शरीर उसके वश में नहीं रहता वह व्यक्ति 10 मिनट से 2 घंटे तक के लिए बेहोश हो जाता है या फिर उसकी याददाश्त चली जाती है जिससे की वो एक अजीबो गरीब हरकते करना शुरू कर देता है ये बीमारी 10 साल से लेकर 20 साल से व्यक्ति को भी हो सकती है इसिलए हम आपाको इस बीमारी से बचने के लिए कुछ नुस्खे बताते है जिससे की आप इस बीमारी को जल्द ही ख़तम कर देते है |

यहाँ भी देखे : विटामिन डी की कमी को कैसे पूरा करे

मिर्गी का कारगर इलाज

कुछ बादाम, बड़ी इलायची, अमरूद और अनार के 20 पत्ते इस सब को कूटकर कसी पीतल के बर्तन में उबाले और उसमे नमक मिलाये और इस मिश्रण को रोगी को दिन 3 से 4 बार पिलाये जिससे की बीमारी जल्द ही ख़तम हो जाती है

अंगूर का फल मिर्गी के रोगी के लिए एक बहुत ही लाभकारी उपचार है इस बीमारी से बचने के लिए अगर आप अंगूर का सेवन करेंगे तो मिर्गी के दौरों से आपको काफी हद तक आराम मिलेगा | इस प्रक्रिया को आपको लगभग 6 से 8 महीने तक लगातार करना है |

यहाँ भी देखे : किडनी स्टोन का इलाज़

मिर्गी रोग का आयुर्वेदिक उपचार

एप्सम साल्ट (मेग्नेशियम सल्फ़ेट) के मिश्रण से अगर रोगी स्नान करता है तो मिर्गी की शिकायत काफी हद तक दूर हो जाती है और डरावने दौरे नहीं आते और दौरों में शांति मिलती है काफी हद तक दौरे आना कम हो जाता है लेकिन पूर्ण रूप से ठीक नही होता |

चिकनी मिटटी से भी मिर्गी के दौरे में गिरावट आती है इसलिए आप मिर्गी के दौरों से बचने के लिए रोगी के शरीर पर मिटटी लगा दे उसके कुछ देर बाद आप रोगी को नहला सकते है |

मिर्गी का कारगर इलाज

मिर्गी रोग का घरेलू उपचार

जैसा की हम सभी जानते है तुलसी के पत्ते हमारे शरीर के लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध होता है इसीलिए आप मिर्गी के दौरों से बचने के लिए तुलसी के पत्तो एक दिन में करीब 20 पत्ते खाये आपको कोई भी आपत्ति नही होगी |

अगर आप पेठे का सेवन करते है तो निश्चित ही आपको मिर्गी की बीमारी से छुटकारा मिल जाता है यह एक घरेलु उपचार है इसके पोषक तत्व हमारे मस्तिष्क के लिए लाभदायक होते है जिससे की मिर्गी के रोग में गंभीर गिरावट आती है |ये फिर आप पेठे की सब्जी या पेठे का जूस भी पी सकते है जो की अत्यंत लाभकारी होता है |

यहाँ भी देखे : पथरी का इलाज़

मिर्गी की बीमारी का इलाज

गाय के दूध का मक्खन अगर आप नित्य खाये तो ये भी काफी हद तक आपको मिर्गी के दौरों से दूर रखता है इसका सेवन आपको नित्य 10 ग्राम करना है जिससे आपको काफी लाभ पहुचता है |

दूध में अगर आप लहसुन मिला कर पीये तो मिर्गी की बीमारी जल्द ही ठीक हो जाती है और भविष्य में कभी नहीं होती इसलके लिए आपको 100 मिलीलीटर दूध में लहसुन मिला कर रात को सोते समय पीना है इसके लगातार प्रयोग से मिर्गी के दौरे आना बंद हो जायेंगे |

You have also Searched for : 

मिर्गी का दवाई
मिर्गी के टोटके
मिर्गी के लिए योगासन
मिर्गी के लिए जड़ी बूटी

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top