जीत पर शायरी | जीत की बधाई शायरी – Jeet Shayari 2 Line in Hindi

Jeet Shayari 2 Line in Hindi

किसी भी मनुष्य के जीवन में जीत का बहुत बड़ा महत्व होता हैं|अगर किसी चीज़ पर जीत प्राप्त करनी हैं तो किसी मोटिवेशन की आवश्यकता होती हैं| वो मोटिवेशन आपको किसी पोएम, कोट्स, कहानी या शायरी से मिल सकती हैं| कई बार अपनों का होसला बढ़ाने के लिए आप उसे व्हाट्सप्प और फेसबुक पर मोटिवेशनल शायरी भेजकर उन्हें प्रोत्साहित कर सकते हैं| ऐसे ही कुछ अच्छे और मोटिवेशनल जीत के कोट्स, जीत पर शायरी, हार और जीत के संस और जीतने की शायरी इन हिंदी इस पोस्ट में आपको मिलेगी जिन्हे आप किसी को भी डेडिकेट कर सकते हैं और उन्हें प्रोत्साहित कर सकते हैं|

यह भी देंखे :संदीप माहेश्वरी के विचार – Sandeep Maheshwari Motivational Quotes in Hindi

जीत की शायरी

रिवाज़ न हो भले ही पढी किताबें पढने का//
जिंदगी के सीखे सबक रोज़ याद करने होते है//
आभा….

क्या हार में क्या जीत में किंचित नही भयभीत में,
कर्तव्य पथ पर जो भी मिले जीत भी सही और हार भी सही !

हार जीत शायरी इन हिंदी

ना पूछो के मंजिल का पता क्या है,
अभी बस सफर है सफर का दीदार होने दो…

रूठ जाये अगर तक़दीर तो मनाकर देखो
फूल मेहनत के हथेली पर उगाकर देखो

Jeet Shayari In Hindi

घिर चुका था जब मुसीबतों के बीच
हौसला बढाया तो रुकावटों की ईमारत हिल ही गयी,
बहुत दूर नजर आ रही थी जो इक दिन
कदम बढाया तो आज मंजिल मिल ही गयी।

जीत पर शायरी

जिस सफ़र से होकर तू आज मुकाम पर पहुंचा है,
उसी सफ़र में आज कई दीवाने चल निकले हैं,
जानते नहीं नादान इन्हें जरूरत है इक जिद की
नन्हें कदमो से नापने आसमान चल निकले हैं।

जीत के लिए शायरी

मुझे तो खबर भी न थी की कौन-कौन साथ दौड़ रहा है मेरे
पहुंचा मंजिल पर तो पता चला की एक लम्बा कारवां मेरे पीछे था।

एक जमाना था जब मैं तलाशता था रास्ता आसमान तक जाने का
एक आज का दौर है की सारा आसमान मेरा है।

खोटा सिक्का जो समझते थे मुझे
आज मैं उनका ध्यान तोड़ आया हूँ,
जिंदगी की राहों में सफ़र लम्बा था मेरा
इसलिए क़दमों के निशान छोड़ आया हूँ।

हार जीत हिंदी शायरी

देखें हवाएँ ले चलें अब कहाँ तक मुझे
मजबूरियों ने चलाया है यहाँ तक मुझे

नहीं आसां नहीं है यहाँ सम्भल जाना
ज़िंदगी नहीं है मौसम का बदल जाना

मंज़िल होगी आसमाँ ऐसा यकीं कुछ कम है
अपने नक्शे के मुताबिक़ ये ज़मीं कुछ कम है

हार और जीत पर शायरी

कचरे का ढेर दरीचे में रख छोड़ा है मैनें
इन आँधियों का गुरूर कुछ यूँ तोड़ा है मैनें

बहती धारा के साथ बहो किनारा छोड़ दो
रखो यकीं खुद पे दुनियाँ का सहारा छोड़ दो

हुई शब तो चाँद -सितारों को पहरेदार किया
उतर के पानी में दरिया को खुद ही पार किया

हार जीत पर शायरी

ख्वाब पूरे हो गए हैं मेरे कि आज चैन की नींद सोना चाहता हूँ,
बहुत देर से दूर था जिस आँचल से आज उसी माँ की गोद में सोना चाहता हूँ।

माना कि पहुँच गया हूँ सफलता की ऊँचाइयों पर आज मैं,
लेकिन लोगों के दिलों में उतरने का हुनर आज भी रखता हूँ।

उड़ान भरी तो इतनी दूर निकल आया मैं,
न जाने इस मुकाम का मंजर क्या होगा?

यह भी देंखे :Dalai Lama Best Quotes In Hindi – दलाई लामा के अनमोल विचार

जीत का जश्न शायरी

बीत गया है रास्ता की आज मैं अपने मुकाम पर हूँ,
सारे सफ़र सताती रही जिंदगी
थक चुका हूँ थोडा आज आराम पर हूँ।

मिल गयी है सफलता तो नजरिये बदले हैं
जो थे कल तक दुश्मन आज करीबी निकले हैं,
ना ही बदला हूँ मैं ना ही मेरे अंदाज बदले हैं,
ये तो बस शुरुआत थी अभी तो पड़ाव अगले हैं।

जीत के शायरी

किसी की तमन्ना थी तो किसी की उम्मीदें जुड़ी थीं,
मेरी सफलता के लिए मेरी मेहनत बहुत कड़ी थी,
पहुँच कर मुकाम पर जो मुद कर देखा मैंने तो पाया कि
मुझसे आगे निकलने को दुनिया तमाम खड़ी थी।

जो शतरंज की बिसात होती जिंदगी तो
मैं सिर्फ एक मोहरा ही बन कर रह जाता,
ये तो वो खाली किताब निकली जिसने
बादशाह बना दिया मुझको जो मैंने
खुद की किस्मत लिखनी शुरू की।

सच्चाई की जीत शायरी

गिरा रही थी जिंदगी मुझे बार-बार अलग-अलग ठोकरों से,
बर्ताव कर रहा हो जैसे कोई मालिक अपने नौकरों से,
हिम्मत और हौसले को मैंने फिर भी अपनी बैसाखियाँ बनायीं
पहुँच गया सफलता की मंजिल पे

बिना लक्ष्य के जीने वाले इंसानों की जिंदगी कहाँ अमीर होती है,
जब मिल जाती है सफलता तो नाम ही सबसे बड़ी जागीर होती है।

प्यार की जीत शायरी

कौन कहता है कि बुने हुए ख्वाब सच्चे नहीं होते,
मंजिलें उन्हीं को नहीं मिलती जिनके इरादे अच्छे नहीं होते,
रूखी-सूखी रोटी और धक्के तो बहुत खाए हैं जिंदगी में लेकिन
आज देख रहा हूँ कि सफलता के फल कभी कच्चे नहीं होते।

जीत की बधाई शायरी

चमक रहा है सितारा आज ज़माने में मेरे नाम का
मिल गया हैं नतीजा मुझे मेरे काम का,
किसी चीज की जरूरत न रही मुझे
जबसे नशा चढ़ गया है मुझे सफलता के जाम का।

चुनाव जीत शायरी

चमक रहा हूँ जो सूरज का की तरह तो सब हैरान हैं क्यों?
मेरी कामयाबी से सब इतना परेशान हैं क्यों?
हर रात टकराया हूँ मैं इक नई मुसीबत से नई सुबह के लिए
सबको दिखा हुनर मेरा लेकिन
किसी ने न पूछा की ये जख्मों के निशान हैं क्यों?

मिली जो मंजिल तो कारवां भी बड़ा लग रहा था,
वरना सफ़र में हर शख्स मुझे ठग रहा था,
यूँ ही नहीं पहुंचा हूँ आज मैं इस मुकाम पर
जब सो रहा था ये ‘जग’ तब मैं ‘जग’ रहा था।

हार और जीत शायरी

सूरज की तपिश और बेमौसम बरसात को हमने हंस कर झेला है,
मुसीबतों से भरे दलदल में हमने अपनी जिंदगी को धंस कर ठेला है,
यूँ ही नहीं कदम चूम रही है सफलता आज इस खुले आसमान तले
ज़माने भर के नामों को पीछे छोड़ा है तब जाकर हमारा नाम फैला है।

मिट जाता, बर्बाद हो जाता या बदनाम हो जाता मै,
सफलता की राहों पे गुमनाम हो जाता मैं,
शुक्रगुजार हूँ उस खुदा का जिसने हर कदम साथ दिया
कहाँ पहुँचता वरना इस मुकाम पर, इक मौत आम हो जाता मैं।

Jeet Shayari In Hindi Font

दुनिया के सारे शौक पाले नही जाते,
कांच के खिलौने हवा में उछाले नही जाते,
परिश्रम करने से जीत हो जाती है आसान,
क्योंकि हर काम तक़दीर के भरोसे टाले नही जाते.

किस्मत तेरी दासी हैं यदि परिश्रम तेरा सच्चा हैं,
नियत भी साथ देगा और जीत भी तेरा पक्का हैं.

मुश्किलें तेरे आत्मविश्वास को आजमाती हैं,
स्वप्न के पर्दे निगाहों से हटाती हैं,
हौसला मत हार गिर कर ऐ मेरे दोस्त,
ठोकरें ही इंसान को चलना सिखाती हैं.

Jeet Shayari In Urdu

میں جیتونگی، اس سے وعدہ کرو،
جتنا جتنا آپ سوچتے ہو کوشش کریں،
قسمت نے ہمت نہیں توڑ دی،
آپ کا ارادہ بہت مضبوط ہے.

کبھی قسمت سے ڈرتے نہ ہو،
شکست فتح ہے، اگر ہم اس سے کچھ سیکھیں.

کامیابی کے لئے جذبہ کے لئے کی ضرورت ہے،
رگوں میں اعتماد کی ضرورت ہے،
یہ آسمان بھی زمین پر آئے گا،
صرف ارادوں میں جیت جیتنا چاہتے ہیں.

فخر سے، وہ اپنی قسمت کو قتل کرتا ہے،
پیروں کی طرف سے، لوگ سوچنے سے گریز نہیں ہوتے ہیں.

اس بات کی یقین ہے کہ کشتیاں بھی بہت ہی نایکا ہیں،
ایک غیر یقینی کامیابی ہیرووں کی آزمائش لیتا ہے.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*