धार्मिक (आस्था)

कालसर्प दोष दूर करने के उपाय

Kaalsarp Dosh Dur Karne Ke Upay : कालसर्प दोष को लेकर लोगो के मन में कई तरह की शंकाये और डर बना हुआ है यह दोष सबसे खतरनाक गृह राहु केतु के मिलन से होता है राहु का अधिदेवता काल है तथा केतु का अधिदेवता सर्प है अगर इन दोनों ग्रहो के बीच में कुंडली में एक तरफ अन्य सभी गृह हो तो वहां काल सर्प योग होता है इससे बचने के लिए कई ज्योतिष कई तरह के अचूक उपाय बताते है इनमे से कुछ उपाय हम आपको बताते है जिसकी मदद से आप अपनी कुंडली से काल सर्प दोष को दूर कर सकते है | जिस किसी व्यक्ति की कुंडली में काल सर्प दोष आ जाता है उसका जीवन या तो राजा जैसे गुजरता है या बिलकुल बर्बाद हो जाता है |

यह भी देखे : विश्व का सबसे बड़ा शिवलिंग

कालसर्प योग के प्रकार

Kalsarp Yog Ke Prakar : कालसर्प योग किसी व्यक्ति की कुंडली में आ जाता है तब उसका जीवन में परेशानी आना शुरू हो जाती है और कोई भी कार्य ठीक से नहीं होता | काल सर्प योग 12 प्रकार का होता है जो की व्यक्ति की कुंडली में आता है |

  1. अनंत
  2. कुलिक
  3. वासुकि
  4. शंखपाल
  5. पद्म
  6. महापद्म
  7. तक्षक
  8. कर्कोटक
  9. शंखनाद
  10. घातक
  11. विषाक्त
  12. शेषनाग

यह भी देखे : कृष्ण को बांसुरी किसने दी

कालसर्प योग के प्रकार

कालसर्प मंत्र

Kaalsarp Mantra : कालसर्प दोष को ठीक करने के लिए आप इन मंत्रो का उच्चारण कर सकते है जिसकी मदद से आप अपनी कुंडली में आये हुए कालसर्प दोष को मुक्त कर सकते है :

काल सर्प योग तब आता है जब राहु केतु हमारी कुंडली में गलत स्थान पर आ जाते है इसीलिए आप उन्हें प्रसन्न करने के लिए राहु-केतु मंत्रो का जाप कर सकते है इसके लिए आपको इस मंत्र का उच्चारण करना होगा |

राहु मंत्र : ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम:
केतु मंत्र : ॐ स्त्रां स्त्रीं स्त्रौं स: केतवे नम:।

नागदेवता की पूजा करने से काल सर्प दोष दूर हो जाता है इसके लिए माला जपते समय सही तरीके से नाग मंत्रो का जाप कर सकते है इसके लिए आपको इस मंत्र का उच्चारण करना होगा |

सर्प मंत्र- ॐ नागदेवताय नम:
नाग गायत्री मंत्र- ॐ नवकुलाय विद्यमहे विषदंताय धीमहि तन्नो सर्प: प्रचोदयात्

यह भी देखे : सनातन धर्म क्या है

कालसर्प योग शांति के उपाय

Kaalsarp Yog Shanti Ke Upay : इस योग में आपको कई तरह के उपाय करने होते है जिनमे से कुछ पायो के बारे में हम आपको बताते है यदि आप इन उपायों का पालन करते है तब आप अपनी कुंडली में कालसर्प योग का निवारण कर सकते है :

  1. शिव जी को नागो का देव कहा जाता है इसीलिए आप शिव जी की शिवलिंग पर प्रतिदिन जल चढ़ाये जिससे की यह योग आपकी कुंडली से दूर हो जाता है |
  2. अगर आपकी कुंडली में काल सर्प दोष पाया जाता है तब आप बपने साथ हमेशा मोर पंख रखे |
  3. महामृयुंजय का जाप करे |
  4. पक्षियों का जौं के दाने भी डाले जिससे की आपकी कुंडली से कालसर्प योग ख़त्म हो जाता है इसके लिए आपको लगातार 45 दिन तक जौं डालना पड़ेगा |
  5. हर शनिवार के दिन काले कुत्ते को तेल की चुपड़ी रोटी खिलाये इससे कालसर्प योग में आराम मिलता है |
  6. नागपंचमी वाले दिन किसी सपेरे से किसी भी नाग को मुक्त करवाए |

You have also Searched for :

  • कुंडली में काल सर्प दोष
  • कालसर्प दोष निवारण यंत्र
  • कालसर्प गायत्री मंत्र
  • कालसर्प योग पूजा
  • कालसर्प दोष की पूजा
  • आंशिक कालसर्प योग
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

you can contact us on my email id: harshittandon15@gmail.com

Copyright © 2016 कैसेकरे.भारत. Bharat Swabhiman ka Sankalp!

To Top