Murgi Palan Kaise Kare

Murgi Farm In Hindi

मुर्गी पालन कैसे करे : आज के समय में हमारे देश में कई लोग अलग-2 तरह के व्यापार होते है जिसमे से मुर्गी पालन का भी बिज़नेस है जो की कई लोगो द्वारा किया जाता है | मुर्गी पालन करने का तरीका सबको नहीं पता होता जिसकी वजह से वह लोग मुर्गी पालन ठीक प्रकार से नहीं हो पाता इसीलिए हम आपको ऐसी कुक आसान से टिप्स बताते है जिनके माध्यम से आप आसानी से मुर्गी पालन के बारे में जान सकते है की किस तरह से मुर्गी पालन करेंगे जिससे की आप अपना खुद का बिज़नेस कम पैसो में शुरू कर सकते है | इसे पहले हमने आपको बकरी पालन के बारे में बताया था जो की आपके लिए बहु लाभदायी हुआ |

यह भी देखे : Logon Ka Dil Kaise Jeete

Murgi Farm In Hindi

फार्म के लिए जगह
सबसे पहले आपको याद रखना है की आप मुर्गी पालन करते समय मुर्गी के फार्म का सुरक्षित चयन करना होगा जिसके लिए वह जगह समतल, और ऊंचाई पर होनी चाहिए, बिजली और पानी की व्यवस्था हो, चूज़े, ब्रायलर दाना, दवाईयाँ, वैक्सीन होना अनिवार्य है |

फार्म के लिए शेड का निर्माण
फार्म के शेड के लिए जरुरी है की आपके शेड की चौड़ाई 30-35 फुट तथा लम्बाई आवश्यकतानुसार रख सकते है, शेड का फर्श पक्का हो, शेड के अंडा पानी की व्यवस्था, बिजली के बल्ब, मुर्गी दाना की व्यवस्था होनी चाहिए |

यह भी देखे : Zindagi Kaise Jiye

Murgi Palan Kaise Kare

Desi Murgi Palan Tips

ब्रूडिंग
ब्रूडिंग होता है चूज़ों का विकास होना इसीलिए ध्यान रखे की अगर आप सही तरीके से ब्रूडिंग करते है तो निश्चित ही आपके चूज़ों का सही तरह से विकास हो पायेगा इसीलिए आप ब्रूडिंग करने के लिए बिजली के बल्ब से, गैस ब्रूडर से या अंगीठी/सिगड़ी की सहायता भी ले सकते है |

मुर्गी दाना
मुर्गी को दाना देने के लिए आप निम्न तरीको से मुर्गी दाना दे सकते है यह तरीके मुर्गी की अम्र और वजन पर निर्भर करते है :
प्री स्टार्टर (0-10 दिन तक के चूजों के लिए)
स्टार्टर (11-20 दिन के ब्रायलर चूजों के लिए)
फिनिशर (21 सिन से मुर्गे के बिकने तक)

यह भी देखे : सिगरेट छोड़ने के तरीके

Murgi Palan Training

पीने का पानी
मुर्गी की पीने की क्षमता उनकी दाना के ऊपर निर्भर करती है क्योकि मुर्गी जितनी अधिक दाना कहती है वह उतना ही अधिक पानी पीती है तो आप इस बाक भी ध्यान देना है |

मुर्गियों के लाइट का प्रबंध
चूज़ों को लाइट में रखने से उनका विकास अच्छी तरह से होता है इसीलिए शेड की रोशनी को उतना बना के रखिये जितनी चूज़ों को आवश्यकता हो, जैसे जैसे चूज़े बड़े होते जाये आप शेड की रोशनी को कम कर सकते है |

You have also Searched for :

murgi palan video download
murgi palan pdf
kukut palan book
murgi farm project report
murgi farm loan

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*