Meer Anees Shayari

Meer Anees Marsiya In Hindi

मीर अनीस शायरी : इनका पूरा नाम मीर बाबर अली अनीस है इनका जन्म 1803 में फैज़ाबाद में हुआ था वह एक उर्दू पोएट थे इनकी उर्दू की शेरो शायरिया काबिले तारीफ है इनकी मृत्यु 71 साल की उम्र में 1874 में हो गयी टू आज हम आपको अनीस जी के द्वारा कही गयी कुछ दिल छूने वाली शायरी से अवगत करते है जो की कई महान उर्दू के शायरों जैसे आनिस मोईन और अब्दुल हामिद अदम जैसे शायरों से भी बढ़ कर मानी जाती है | इसके अलावा हम आपको बताते है उनके दो लाइन के शेर जो की प्रेरणादायक है |

यह भी देखे : Faiz Ahmed Shayari

Meer Anees Marsiya In Hindi

मीर अनीस मर्सिया इन हिंदी : मीर अनीस जी के द्वारा मर्सिया में लिखित शायरियो को जानने के लिए आप नीचे दी हुई दिल छूने वाली मज़ेदार शायरियो के माध्यम से जान सकते है :

आशिक़ को देखते हैं दुपट्टे को तान कर
देते हैं हम को शर्बत-ए-दीदार छान कर

‘अनीस’ आसाँ नहीं आबाद करना घर मोहब्बत का
ये उन का काम है जो ज़िंदगी बर्बाद करते हैं

‘अनीस’ दम का भरोसा नहीं ठहर जाओ
चराग़ ले के कहाँ सामने हवा के चले

यह भी देखे : Dushyant Kumar Shayari

Meer Anees Shayari

Meer Anees Poetry Karbala

मीर अनीस पोएट्री कर्बला : मीर अनीस जी के द्वारा कर्बला में जो भी शायरी और शेर है तो आप हमारी इन शायरियो से जान सकते है :

अश्क-ए-ग़म दीदा-ए-पुर-नम से सँभाले न गए
ये वो बच्चे है जो माँ बाप से पाले न गए

गुल-दस्ता-ए-मअनी को नए ढंग से बाँधूँ
इक फूल का मज़मूँ हो तो सौ रंग से बाँधूँ

करीम जो तुझे देना है बे-तलब दे दे
फ़क़ीर हूँ प नहीं आदत-ए-सवाल मुझे

यह भी देखे : Firaq Gorakhpuri Shayari

Mir Anees Poetry Books

मीर अनीस पोएट्री बुक्स : मीर अनीस शायर के साथ एक बहुत बड़े उर्दू के कवि भी थे तो आज हम आपको उन्ही के शायरी और ग़ज़ल के कुछ अंश से अवगत करते है जो की काफी प्रेरणादायक है :

लगा रहा हूँ मज़ामीन-ऐ-नौ के फिर अम्बार
ख़बर करो मेरे ख़िरमन के ख़ोशा-चीनों को

मिसाल-ए-माही-ए-बे-आब मौज तड़पा की
हबाब फूट के रोए जो तुम नहा के चले

तमाम उम्र जो की हम से बे-रुख़ी सब ने
कफ़न में हम भी अज़ीज़ों से मुँह छुपा के चले

You have also Searched for :

meer anees shayari imam hussain
meer anees poetry on hazrat ali
meer anees biography in urdu
mir anees poetry books in urdu pdf free download
meer anees hazrat abbas

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*