Hasya Kavita in Hindi for Class 8

Hasya Kavita in Hindi for Class 8

हास्य कविता इन हिंदी फॉर क्लास 8 : वैसे तो कविताये कई प्रकार की होती है है लेकिन जो हास्य कविताये होती है आप उनके माध्यम से महफ़िल में अपनी अलग एक पहचान बनाते है क्योंकि यह हास्य कविताये आपको हँसा-२ के लोटपोट करती है इससे पहले हम हास्य कविता पढ़ चुके है लेकिन अब हम हास्य कविता क्लास आठंवी के लिए पढ़ेंगे जो की स्कूलों में बच्चो के लिए सिखाई जाती है इसके अलावा Marathi Prem Kavita और Harivansh Rai Bachchan Kavita भी आप पढ़ सकते है |

यह भी देखे : होली पर कविता

Hindi Hasya Kavita on Exams

अपनी परीक्षाओ की तैयारी के लिए जाने कुछ मज़ेदार कविताये जिनसे आप जान सकते है बेहतरीन कविताएं हिंदी हास्य कविता ऑन एक्साम्स जिसमे की आपको सभी क्लास की कविताये मिलती है जैसे hasya kavita in hindi for class 1 की भी :

टीचर जी!
मत पकड़ो कान।
सरदी से हो रहा जुकाम।।
लिखने की नही मर्जी है।
सेवा में यह अर्जी है।।
ठण्डक से ठिठुरे हैं हाथ।
नहीं दे रहे कुछ भी साथ।।
आसमान में छाए बादल।
भरा हुआ उनमें शीतल जल।।
दया करो हो आप महान।
हमको दो छुट्टी का दान।।
जल्दी है घर जाने की।
गर्म पकोड़ी खाने की।।
जब सूरज उग जाएगा।
समय सुहाना आयेगा।।
तब हम आयेंगे स्कूल।
नहीं करेंगे कुछ भी भूल।।

यह मॉनिटर बन कक्षा के बड़ी शान दिखाते हैं.
क्लास में रौब है बाहर धक्के खाते हैं.
झूठी झूठी शिकायतों से हम सब को पिटवाते हैं,
मीठी मीठी बातों से टीचर जी को बहलाते हैं,
टीचर के ना आने पर खुद शासक बन जाते हैं,
ज़रा सा कुछ बोल दो टीचर से शिकायत करने जाते हैं.
छोटी छोटी बातों का बतंगड़ बनाते हैं.
मैडम इनको जल्दी बदलो हम सब यही चाहते हैं.

अच्छी तरह से अभी पढ़ना न आया
कपड़ों को अपने बदलना न आया
लाद दिए बस्ते हैं भारी-भरकम।
बचपन से दूर बहुत दूर हुए हम।।

यह भी देखे : स्वतंत्रता पर कविता

Hindi Hasya Kavita for Students

हिंदी हास्य कविता फॉर स्टूडेंट में जानिए मज़ेदार कविताएं और जिन्हें आप शेयर भी कर सकते है अपनी दोस्तों को funny poem in hindi for friends :

अँग्रेजी शब्दों का पढ़ना-पढ़ाना
घर आके दिया हुआ काम निबटाना
होमवर्क करने में फूल जाये दम।
बचपन से दूर बहुत दूर हुए हम।।

देकर के थपकी न माँ मुझे सुलाती
दादी है अब नहीं कहानियाँ सुनाती
बिलख रही कैद बनी, जीवन सरगम।
बचपन से दूर बहुत दूर हुए हम।।

इतने कठिन विषय कि छूटे पसीना
रात-दिन किताबों को घोट-घोट पीना
उस पर भी नम्बर आते हैं बहुत कम।
बचपन से दूर बहुत दूर हुए हम।।

है क्या एक दोस्त आज मैं आपको समझाती हूँ,
दोस्ती के वास्तविक अर्थ से मैं, आपको परिचित कराती हूँ,
पड़ी हो भारी भीड़ या कोई विकट आपत्ति,
साथ न हो जब जीवन में, कोई भी साथी संगी;
ऐसी अवस्था में दोस्त आगे बढ़कर आता है,
भरी विपत्ति से भी, अपने दोस्त को आजाद कराता है,
किसी जाति, धर्म या वंश से उसकी पहचान ना होती है,
उस दोस्त की सच्ची दोस्ती ही एक मिशाल होती है।
हर खूनी रिश्ते से ऊपर होता है औहदा जिसका,
गंगा जल के जैसा पवित्र होता है सच्चे दोस्त का रिश्ता,
बहती रहती है सदा जिसकी निर्मल पवित्र धारा,
होता है वो दोस्त जग में सबसे निराला,
पग-पग पर दोस्ती निभाने के लिए मचलता हो दिल जिसका,
होता है वो दोस्त वास्तव में मन का सच्चा,
ऐसा दोस्त मिलना जग में एक मुकाम पाने के समान है,
थाम लो ऐसे दोस्त का हाथ अगर वो आपके साथ है।।

Hindi Hasya Kavita on Exams

Funny Hindi Poems for Class 7

फनी हिंदी पोएम फॉर क्लास 7 में जानिए मज़ेदार कविताये और भेजे अपने दोस्तों को भी और जाने अच्छी बाते जिसमे आप hindi hasya kavita on fashion के माध्यम से भी जानकारी ले सकते है :

दोस्ती है अनमोल रत्न;
नहीं तोल सकता जिसे कोई धन,
सच्ची दोस्ती जिसके पास है;
उसके पास दौलत की भरमार है,
न ही जीत न ही कोई हार है,
दोस्त के दिल में तो बस प्यार ही प्यार है।।

भटके जब भी दोस्त संसार के मोहजाल में,
खींच लाता है सच्चा दोस्त उसे अच्छाई के प्रकाश में,
छोड़ देता है जग सारा जब मुश्किल भरी राह में,
सच्चा दोस्त साथ देता है तब जिंदगी की राह में।।

बने चाहे दुश्मन क्यों न जमाना सारा,
सच्चा दोस्त साथ देता है सदा हमारा,
दोस्त के लिए कुर्बान होता है जीवन सारा,
हर मुश्किल में बनता है वो सहारा।।

सच्ची दोस्ती को वक्त परखता हर बार है,
वक्त की हर परीक्षा से हसते हुए पास करना ही दोस्ती की पहचान है,
दुनिया की किसी शौहरत की न जिसे दरकार है,
सच्चा दोस्त रखने वाला संसार में सबसे धनवान है।।

यह भी देखे : देश भक्ति कविता

Short Funny Poem in Hindi

शार्ट फनी पोएम इन हिंदी में जाने छोटी-2 कविताएं और सीखे बहुत कुछ उन कविताओ के माध्यम से :

हम स्कूल रोज हैं जाते.
शिक्षक हमको पाठ पढ़ाते.
दिल बच्चों का कोरा कागज,
उस पर ज्ञान अमिट लिखवाते.
जाति-धर्म पर लड़े न कोई,
करना सबसे प्रेम सिखाते.
हमें सफलता कैसे पानी,
कैसे चढ़ना शिखर बताते.
सच तो ये है स्कूलों में,
अच्छा इक इंसान बनाते.

गुरु आपकी ये अमृत वाणी
हमेशा मुझको याद रहे
जो अच्छा है जो बुरा है
उसकी हम पहचान करे
मार्ग मिले चाहे जैसा भी
उसका हम सम्मान करे
दीप जले या अँगारे हो
पाठ तुम्हारा याद रहे
अच्छाई और बुराई का
जब भी हम चुनाव करे
गुरु आपकी ये अमृत वाणी
हमेशा मुझको याद रहे

शिक्षक है शिक्षा का सागर,
शिक्षक बांटें ज्ञान बराबर,
शिक्षक मंदिर जैसी पूजा,
माता-पिता का नाम है दूजा,
प्यासे को जैसे मिलता पानी,
शिक्षक है वो ही जिंदगानी,शिक्षक न देखे जात-पात,
शिक्षक न करता पक्ष-पात,
निर्धन हो या हो धनवान,
शिक्षक को सब एक सामान.शिक्षक माझी नाव किनारा,
शिक्षक डूबते को सहारा,
शिक्षक का सदा ही कहना,
श्रम लगन है सच्चा गहना.

 

 

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*