Hanuman Bahuk in Hindi

Hanuman Bahuk in Hindi

हनुमान बाहुक इन हिंदी : हनुमान जी, अंजनी पुत्र, बजरंबली, रामभक्त, पवनपुत्र, मारुती और न जाने कितने नाम से जाना जाता है यह बहुत ही शक्तिशाली थे जैसा की आपने हनुमान चालीसा का अध्ययन किया होगा उसमे आपको उसेक लाभ, फल, और लाभ को महसूस भी किया होगा | लेकिन हम आपको हनुमान बाहुक के पाठ के बारे में बताते है जिसमे की आप पा सकते है बेहतरीन जानकारी जानिए आप इसके बारे में की हनुमान बाहुक का पाठ करके आपको क्या-2 लाभ मिलते है | हनुमान बाहुक उनके गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित महाकाव्य है जिसकी जानकारी हम आपको नीचे देते है |

यह भी देखे : Amalaki Ekadashi

Hanuman Bahuk Significance

हनुमान बाहुक सिग्निफ़िकेन्स : इसमें आपको हनुमान जी के बारे में जानकारी मिलती है और इस पाठ को करने से निम्नवत दिए गए लाभ के अनुसार मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है इस पाठ का हिन्दू धर्म में अत्यंत महत्व है  :

Hanuman Bahuk ke Labh

हनुमान बाहुक के लाभ : हनुमान बाहुक हिंदी के महान कवि गोस्वामी तुलसीदास के द्वारा रचित श्रोत है इसकी कहानी गोस्वामी तुलसीदास जी के बीमार पड़ने की है वो बेमार पद गए जिसकी वजह से उनके शरीर पर काफी फोड़े फुंसी, और भी कई प्रकार की पीड़ा होने लगी उन्होंने ओषधि  यन्त्र, मन्त्र, त्रोटक आदि अनेक उपाय किये लेकिन यह रोग घाट ही नहीं रहा था निराश रह कर तुलसीदास जी ने हनुमान जी की वंदना की जो कि ४४ पद्यों के ‘हनुमानबाहुक’ नाम से प्रसिद्ध है इसी श्रोत की वजह से तुलसीदास जी का शरीर पहले की तरह हो गया उनके सारे रोगों का नाश हो गया |

यह भी देखे : Phalguna Purnima

Hanuman Bahuk Path Vidhi

हनुमान बाहुक पाठ विधि : इस तरह से आप हनुमान बाहुक का पाठ लगातार चालीस दिन तक कर सकते है :

  • हनुमान बाहुक का पाठ नियमित रूप से करने के लिए आपको इस पाठ की अवधि 40 दिन पूरी करनी होगी यह पाठ चालीस दिन में पुरे होता है |
  • प्रत्येक दिन प्रातः स्नान करके शुद्ध वस्त्र पहन कर इसका पाठ करे |
  • इन पूरे चालीस दिन आपको ब्रह्मचर्य का पालन करना है इसमें आपको किसी भी तरह के धर्म भंग करने वालो पदार्थो मॉस-मच्छी, मदिरा इत्यादि का सेवन करना चाहिए |
  • इस दिन आपको भगवान राम जी की मूर्ति और हनुमान जी की मूर्ति की स्थापना करनी चाहिए |
  • प्रतिदिन आपको पहले राम जी की पूजा उसके बाद हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए |
  • लगातार 40 दिन इस पाठ की पूजा करनी चाहिए |

Hanuman Bahuk Significance

Hanuman Bahuk Meaning

हनुमान बाहुक मीनिंग : ये है हनुमान बाहुक का पाठ इसी का पाठ करके आप हनुमान बाहुक को पूरा कर सकते है :

छप्पय

झूलना

घनाक्षरी

 

यह भी देखे : Chaitra Navratri

सवैया

 

घनाक्षरी

घनाक्षरी

 

You have also Searched for :

hanuman bahuk benefits in hindi
hanuman bahuk with hindi bhavarth
hanuman bahuk youtube
hanuman bahuk in english

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*