Basant Panchami in Hindi

बसंत पंचमी स्टोरी इन हिंदी

बसंत पंचमी क्या है : हिन्दुओ का प्रसिद्ध त्यौहार है यह बसंत ऋतू में आने वाले त्यौहार है  बसंत पंचमी का दिन पुरे भारत देश में बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा होती है यह दिन ऋतुओ का त्यौहार होता है इस त्यौहार में नयी ऋतू आने का सन्देश होता है यह त्यौहार अपने साथ परिवर्तन लाता है जिसमे की शरद ऋतू की विदाई होती है और बसंत ऋतू का आगमन होता है इस दिन हरे भरे खेतो में सरसो के फूल अपनी पीली-पीली आभा के साथ झूमने लगते है लोग ख़ुशी से झूमने लगते है मधुमक्खियां अपने छत्ते से बहार आ जाती है इस दिन पतंग भी उड़ाई जाती है आज हम आपको बताएँगे की बसंत पंचमी कब है और वैसे तो स्कूलों में भी बच्चो को बसंत पंचमी पर निबंध दिया जाता है जिसके पूरी जानकारी आज हम आपको बताएँगे |

यह भी देखे : Shattila Ekadashi

बसंत पंचमी क्यों मनाई जाती है

आज हम आपको बताएँगे की किस तरह से बसंत पंचमी मनाएंगे क्या है इसकी खासियत जानने के लिए पढ़े नीचे :

Basant Panchami Story in Hindi

बसंत पंचमी स्टोरी इन हिंदी के लिए हम आपको बताएँगे की बसंत पंचमी का त्यौहार हिन्दू धर्म में बहुत प्रसिद्ध त्यौहार है यह दिवस हिंदी पंचांग के अनुसार माघ महीने की पंचमी तिथि को मनाया जाता है बसंत पंचमी उत्सव भारत के पूर्वी क्षेत्रो में बड़े उत्साह से मनाया जाता है इस दिन बड़े पैमाने पर लोग कला और संगीत की देवी और विद्या की देवी सरस्वती की पूजा करते है इस त्यौहार में मौसम में भी परिवर्तन भी होता है इस दिन से पतझड़ का मौसम खत्म होकर हरियाली का मौसम शुरू होता है अंग्रेजी पंचांग यानि कैलेंडर के मुताबिक ये इस साल बसंत पंचमी 1 फरवरी 2017 को है यह त्यौहार बहुत ही खुशहाली से भर हुआ त्यौहार होता है इस दिन में हम सरस्वती देवी की पूजा करते है वैसे तो कई महान कविओ द्वारा बसंत पंचमी पर कई महान कविताएं कही गयी है वैसे तो कई महान कविओ द्वारा बसंत पर कविता कही गयी है |

बसंत पंचमी क्यों मनाई जाती है

Basant Panchami Poem in Hindi

बसंत पंचमी पोएम इन हिंदी  yani Vasant Panchami ke avsar par agar aap 5 lines on basant panchami janna chahta hai to aap bilkul sahi jagah hai :

सहस शील हृदय में भर दे
जीवन त्याग से भर दे,
संयम सत्य स्नेह का वर दे
माँ सरस्वती आपके जीवन में उल्लास भर दे!

वीणा लेकर हाथ मे, सरस्वती हो आपके साथ मे,
मिले माँ का आशीर्वाद आपको हर दिन,
हर बार हो मुबारक़ आपको सरस्वती पूजा का ये दिन.

लक्ष्मी का हाथ हो
माँ दुर्गा का साथ हो
गणेश का निवास हो
और माँ सरस्वती का आशीर्वाद से
आपके जीवन में प्रकाश ही प्रकाश हो

यह भी देखे : मकर संक्रांति कैसे मनाये

बसंत पंचमी व्रत विधि इन हिंदी

इस दिन माँ सरस्वती की पूजा करते है और अपने दैनिक कार्य करने के बाद माँ सरस्वती की आराधना करनी चाहिए इस दिन आप पीले रंग के वस्त्र पहन कर पूजा करे तो शुभ रहेगा फिर इसके बाद दिन के बाद यानि दोपहर में चाहे तो पुनः स्नान करे फिर गणेश जी स्थापित करनी चाहिए और गणेश जी का ध्यान करना चाहिए उसके बाद सफ़ेद फूल, चन्दन, श्वेत वस्त्र से सरस्वती देवी जी का पूजन करना चाहिए और पूजा के बाद देवी को प्रणाम करना चाहिए |

You also Search for :

essay on basant panchmi in Punjabi, English

what is basant panchami

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*