सूर्य नमस्कार स्टेप्स इन हिंदी | Surya Namaskar Steps in Hindi

सूर्य नमस्कार स्टेप्स

सूर्य नमस्कार (Sun Salutation) का अर्थ है सूर्य को नमस्कार करना | सूर्यनमस्कार एक बहुत ही प्राचीन योगासन है जो की हमारे पूरे शर्रेर के लिए लाभदायक होता है क्योंकि यह शरीर, मन और सांस एकीकृत करता है | सूर्यनमस्कार बाकी आसनो से पहले करने वाला वार्म अप भी मन जाता है क्योंकि यह शरीर को खोलता है जिससे हमारी नसों में खिचांव न आये व बॉडी की मसल्स भी स्ट्रेच हो जाएँ | सूर्य नमस्कार में कुल 8 आसन होते हैं जिनमे से कई रिपीट भी होते हैं इस प्रकार इसमें 12 आसन होते हैं | बहुत से लोगो को योग करना नहीं आता वो अक्सर यह ढूँढ़ते हुए पाए जाते हैं की योग कैसे करे ? दोस्तों योग बहुत आसान है जिसमे से आज मैं आपको सूर्य नमस्कार स्टेप्स बताऊंगा |

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार कैसे करे: स्टेप्स व तरीके (How to Do Sun Salutation)

सूर्य नमश्कार करने के लिए आपको निचे दिए हुए स्टेप्स यानी बिन्दुओ को अच्छे से समझकर दैनिक अभ्यास करना पड़ेगा|

  • स्टेप 1 (प्रार्थना मुद्रा) अपनी मैट के किनारे पर खड़े हो जाएँ व दोनों पैरो को जोडें व वज़न संतुलित रखें | अपने सीने का विस्तार करते हुए अपने कंधों को आराम दें | अब लंबी स्वांस लेते हुए दोनों हाथो को ऊपर करें अब सांस छोड़ते हुए दोनों हाथो को छाती के सामने लाते हुए नमश्कार की मुद्रा में लाएं |

प्रार्थना मुद्रा

  • स्टेप 2 : सांस अंदर लेते हुए दोनों हाथ ऊपर उठाएं दोनों हाट के बाइसेप्स कान से छुलने चाहिए | इस पोज़ में अपने शरीर को स्ट्रेच करना है इसलिए अपने पंजो के बल खड़े हो जाएँ व उंगलियो को ऊपर की और उठाएं |

यह भी देखें : दांतों का पीलापन कैसे दूर करे

  • स्टेप  3 : अब सांस छोड़ते हुए निचे झुकें, कमर को सीधा रखें. जैसे ही आप सांस छोडें तब हाथो को ज़मीन से छुलाते हुए पेरों के पीछे छुएं |
  • स्टेप  4 (अश्वारोही मुद्रा)सांस अंदर लीजिये, अपने दाएं पैर को पीछे धकेलिए, अब दाएं पेर के घुटने को ज़मीन पर छुलाते हुए ऊपर देखें |

अश्वारोही मुद्रा

  • स्टेप  5 अब अंदर सांस लेते हुए , बाएं पैर को अंदर लें और पूरे शरीर को एक सीढ़ी लाइन में लाते हुए अपने हाथो पर वज़न डालकर हाथ सीधे करें |

स्टेप 5

  • स्टेप 6 (आठ अंक या भागों के साथ नमश्कार )धीरे से अपने घयुतनो को नीचे लाये व श्वांस छोडें | अपने कूल्हों को थोड़ा पीछे खिसकाते हुए, आगे की और खिसकें अपनी ठोड़ी व छाती को ज़मीन से लगाएं | अपना पिछले हिस्सा थोड़ा सा उठाएं| आपके दोनो हाथ, दोनो पैर, दोनो घुटने,छाती और ठोड़ी (शरीर के आठ भागों) को ज़मीन से छुलना चाहिए|

आठ भागों के साथ नमश्कार

  • स्टेप  7 (कोबरा मुद्रा) : आगे की तरफ स्लाइड करते हुए छाती को हल्का सा उठाएं जैसे कोबरा उठाता है | अपनी चाहें तो अपनी कोहनियो को बेंड कर सकते है, कंधो को कानो से दूर रखें | ऊपर देखे| अंदर सांस लेते हुए छाती को बाहर की और धकेले, अब सांस छोड़ते हुए नाभि को निचे की और धकेलें | अंगूठो को जोड़ कर रखें| आप को यह याद रखना है की अपनी बॉडी को स्ट्रेच कर रहे इसलिए ज़्यादा ज़ोर न लागायें | 

स्टेप 7 कोबरा मुद्रा

  • स्टेप  8 (अधो मुख  स्वानासन )अब एक लंबी सांस छोड़ते हुए , अपने कूल्हे ऊपर की ओर ले जाएँ, जिससे एक आर्क बन जाए | इस मुद्रा में आपके हाथ बिलकुल सीधे रहने चाहिए |

अधो मुख

  • स्टेप  9 (सूर्य दर्शन )अंदर स्वांस लेते हुए, अपने दाएं पैर को अपने शरीर की सीध में लाएं | आपके दोनों हाथ ज़मीन पर रखें, व सामने देखें |

अश्वारोही मुद्रा

  • स्टेप  10 : बाहर स्वांस छोड़ते हुए दाएं पैर को आगे लाएं. अपने हाथो को ज़मीन पर रहने दे | अब अपने घुटनो को सीधा कर, नाक से चुलाने का प्रयत्न करें |  सांस लेते रहे |

प्रार्थना मुद्रा

  • स्टेप  11 सांस अंदर लेते हुए , रीढ़ की हड्डी को सीधा करें, आठो को ऊपर की और करें, अब कूल्हों पर हाथ रखते हुए पीछे की और जाएँ |
  • स्टेप  12 : अब सांस छोड़ते हुए, शरीर सीधा करें, अब हाथ नीचे लाएं | इसी पोजीशन में अब रिलैक्स करें |

यह भी देखें : चिकनगुनिया का इलाज कैसे करे

 

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*