बकरी पालन कैसे करे

बकरी पालन का तरीका

Bakri Ka Palan Kaise Kare : बकरी का पालन का चलन आज विश्वभर में प्रसिद्ध है तो आज हम आपको बकरी को पलने के तरीको के बारे में जानकारी देते है की आप बकरियो का पालन किस तरह से करेंगे | वैसे तो ये अक्सर ग्रामीण क्षेत्रो में होता है क्योंकि अक्सर बकरिया गांव में ही पायी है लेकिन आजकल लोग बकरियो को शहरो में भी उनका व्यापर कर रहे है जिसके लिए उनको पलने के लिए जो सुविधाएं गांव में उपलब्ध होती है वह सुविधाएं शहरो में उपलब्ध नही हो पाती है तो जानिए हमारे माध्यम से की आप किस तरह से बकरियो का पालन करेंगे |

यहाँ भी देखे : Suvichar In Hindi

बकरी पालन का तरीका

Bakari Paalan Ka Tareeka : बकरी पालन के लिए हम आपको हमारे दिए हुए कुछ जानकारी से आप बकरी पालन को अलग ही महत्व दे सकते है और असनीपुरवाक बकरियो को पाल सकते है :

  • आपको एक उपयुक्त भूमि का चयन करना है जिसमें ताजा और स्वच्छ पानी का एक बड़ा स्रोत हो |
  • घास, फसल और अन्य हरे पौधों के उत्पादन के लिए उपयुक्त। यह पूरक भोजन की लागत को कम करने के लिए बकरी की फ़ीड के रूप में उपयोग किया जाता है |
  • आप बकरी पालन के लिए जो भी जमीन का चयन करे वह जमीन शहर से बहुत दूर नहीं होनी चाहिए |
  • सुनिश्चित करें कि आवश्यक वस्तुओं और दवाएं खरीदने के लिए आपके चयनित क्षेत्र के पास एक उचित बाजार हो |
  • चयनित कृषि क्षेत्र के पास बकरी उत्पादों की उच्च मांगों के साथ एक उपयुक्त बाजार उपलब्ध है।

यहाँ भी देखे : उपाय फॉर विनिंग कोर्ट केस

बकरी पालन कैसे करे

बकरी का भोजन

Bakri Ka Bhojan : हमारे दिए कुछ पॉइंट्स जिनके माध्यम से आप अस्सनीपूर्वक जान सकते है की बकरी को पालनपोषण किस तरह से करे ये बहुत ही आसान टिप्स है जिससे की आप आसानी से बकरी पालन कर सकते है :

  • गांव क्षेत्र में जमीन का चयन करने का प्रयास करें। क्योंकि, गांव के क्षेत्रों में भूमि और मजदूर आसानी से बहुत सस्ते दर के भीतर मिल सकते हैं।
  • जब नए बकरी के बच्चे का जन्म हो तो जन्म के उपरान्त नाभि को 3 इंच नीचे से नया ब्लेड की सहायता काट दें तथा डिटोल या टिन्चर आयोडिन या वोकांडिन लगा दें। यह दवा 2-3 दिनों तक लगाए |
  • बकरी के बच्चों को समय-समय पर टेट्रासाइकलिन दवा पानी में मिलाकर पिलावें जिससे न्यूमोनिया का प्रकोप कम होगा ।
  • तीन माह से अधिक उम्र के प्रत्येक बच्चों एवं बकरियों को इन्टेरोटोक्सिमिया का टीका अवश्य लगवायें |
  • बकरियों को नियमित रूप से खुजली से बचाव के लिए जहर स्नान करावे तथा आवास में छिड़काव करें।
  • कोशिश करें कि बकरियों के रहने का स्थान जमीन से दो-तीन फीट ऊँचा हो। इसके लिए आप तख्त इत्यादि का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि गीलेपन और नमी से बकरियों मे बीमारी पैदा हो जाती है।

यहाँ भी देखे : Top 10 Criminals

बकरी पालन प्रशिक्षण

Bakri Paalan Prashikshan : बकरी पालन करने के लिए आप बकरियो के प्रशिक्षण के लिए निम्न प्रकार से कर सकते है और आप आसानीपूर्वक बकरियो का पालनपोषण कर सकते है :

  • इस बात की उचित व्यवस्था करें कि बकरियों के आवास में किसी भी प्रकार का पानी चाहे वो बारिश का हो या कोई अन्य, अन्दर न आने पाए। यह पानी बीमारियों की जड़ है।
  • क्षेत्र में सभी प्रकार के पशु चिकित्सा सेवा की उपलब्धता सुनिश्चित करें। यदि उपलब्ध नहीं है, तो अपने खेत में सभी तरह के आवश्यक टीके और दवाएं शेयर करें।
  • अच्छा परिवहन व्यवस्था ताकि आप अपने उत्पादों को आसानी से बेच सकें और निकटतम बाजार या शहर से आवश्यक वस्तुएं खरीद सकें।
  • बकरियों के आवास में प्रति बकरी 10-12 वर्गफीट का जगह दें तथा एक घर में एक साथ 20 बकरियों से ज्यादा नहीं रखें

You have also Searched for : 

बकरी पालन लोन
बकरी पालन योजना
बकरी फार्म
बकरी पालन शेड
बकरी पालन फार्म

 

 

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*