दो लाइन के शेर

Do Line ke Sher : आज के ज़माने में हर कोई बात-2 पर शेर मर देते है और वो शेयर जितना छोटा हो उतना ही अच्छा लगता है तो आज हम आपको ऐसे ही कुछ बेहतरीन शेर जो आप किसी भी महफ़िल में सुनाइए और अपने दोस्तों से वाह-वाह की तारीफ लीजिये इसके अलावा जाने आप दिल छूने वाली शायरी वैसे तो हम शेर केवल किसी ग्रुप या महफ़िल में मारते है लेकिन आज के ज़माने के शेर हम फेसबुक पर भी शेयर करते है और अपने वाहट्सएप्प पर स्टेटस के तौर पर लगाते है |

यह भी देखे : टेडी डे शायरी

2 लाइन लव शायरी

अगर आप छोटी शायरी जानना चाहे तो आप बिल्कुल सही जगह है 2 Line Love Shayari मे आपको मिलती है बहुत अच्छी केवल 2 लाइन की शायरिया :

इरादे बाँधता हूँ, सोचता हूँ, तोड़ देता हूँ,
कहीं ऐसा न हो जाये, कहीं वैसा न हो जाये।

अभी महफ़िल में चेहरे नादान नज़र आते हैं,
लौ चिरागों की जरा और घटा दी जाये

शेर-ओ-सुखन क्या कोई बच्चों का खेल है?
जल जातीं हैं जवानियाँ लफ़्ज़ों की आग में।

मैं शब्दों से खेलती हूँ हैरान होते हैं लोग,
करती हूँ हाले दिल बयान तो परेशान होते हैं लोग।

लगता है इतना वक़्त मेरे डूबने में क्यूँ…?
अंदाज़ा मुझ को ख़्वाब की गहराई से हुआ।

हिंदी शायरी फेसबुक

फेसबुक पर अपने दोस्तों को शायरियो के माध्यम से अपना एट्टीट्यूड दिखाने के लिए आप अभी ही ये 2 लाइन की फेसबुक शायरियो को Hindi Shayari Facebook शेयर कर और पाए मज़ेदार शेर :

हमीं ग़ालिब से नादीम है हमीं तुलसी से शर्मिंदा
हमींने मीरको छोडा है मीरा छोड आए हैं

अगर लिखने पे आ जायें तो सियाही ख़त्म हो जाये
कि तेरे पास आयें है तो क्या-क्या छोड आये हैं

ग़ज़ल ये ना-मुक़म्मल ही रहेगी उम्र भर “राना”
कि हम सरहद से पीछे इसका मक़्ता छोड आयें है

वो अनजान चला है जन्नत को पाने की खातिर…..
बेख़बर को इत्तला कर दो की माँ-बाप घर पर ही है……

काश कोई ऐसा हो जो गले लगाकर कहे
तेरे दर्द से मुझे भी तकलीफ होती है।

2 लाइन लव शायरी

यह भी देखे : Rose Day Shayari

मतलबी शायरी

आप मतलबी दोस्त शायरी के लिए आप हमारे यहाँ से जानकारी प्राप्त कर सकते है जिसमे की आपकमो मिलती है कई बेहतरीन शायरियां जिन्हें आप सहारे करे अपने दोस्तों और को जो आपसे रूठे हुए है :

मुद्दत के बाद उसने जो आवाज दी मुझे
कदमो की क्या बिसात थी साँसे ठहर गई

मौसम बहुत सर्द है
चल ऐ दोस्त गलतफहमियों को आग लगते है।

सोचा था खुदा के सिवाय कोई मुझे बर्बाद कर नहीं सकता
फिर उनकी मोहब्बत ने सरे वहम तोड़ दिए।

हमे अपना इश्क तो एकतरफा और अधूरा ही पसन्द है
पूरा होने पर तो आसमान का चाँद भी घटने लगता है।

सोचते थे नज़रन्दाज़ करेंगे उसे उसी की तरह,पर
नहीं कर सकते वो ज़ुल्म जिसका दर्द हम जानते है..!!

शायरी हिंदी में dosti

अपनी दोस्ती को और गहरी करने के लिए आप आज ही हमारी इस शायरी को अपने दोस्तों को शेयर करे और जाने की वो आपका दोस्त आपके बारे में क्या सोचता है :

तुम ज़माने के हो हमारे सिवा
हम किसी के नहीं तुम्हारे हैं

ज़रा इक तबस्सुम की तकलीफ़ करना
कि गुलज़ार में फूल मुरझा रहे हैं

सामने उस के न कहते मगर अब कहते हैं
लज़्ज़त-ए-इश्क़ गई ग़ैर के मर जाने से

तुम मुख़ातिब भी हो क़रीब भी हो
तुम को देखें कि तुम से बात करें

कर रहा था ग़म-ए-जहाँ का हिसाब
आज तुम याद बे-हिसाब आए

यह भी देखे : किस डे पर शायरी

दो लाइन शायरी फेसबुक पेज

Do Line shayari Facebook page के लिए आप अपने मनपसंद शेरो एक माध्यम से अपने दोस्तों को फेसबुक पर कोई भी कसी भी तरह का शेर हमारी पोस्ट से भेज सकते है :

जब भी आता है मिरा नाम तिरे नाम के साथ
जाने क्यूँ लोग मिरे नाम से जल जाते हैं

जहाँ पहुँच के क़दम डगमगाए हैं सब के
उसी मक़ाम से अब अपना रास्ता होगा

सीख दुनिया ही में ज़ाहिद हूर से मिलने के ढंग
वर्ना रोएगा कि जन्नत में भी रुस्वाई हुई

कौन कहता है कि मौत आई तो मर जाऊँगा
मैं तो दरिया हूँ समुंदर में उतर जाऊँगा

देख ज़िंदाँ से परे रंग-ए-चमन जोश-ए-बहार
रक़्स करना है तो फिर पाँव की ज़ंजीर न देख

यह भी देखे : Hug Day Wishes for Whatsapp | Facebook

शायरी हिंदी में love

हिंदी में शायरियो के लिए आप यहाँ से भी अपनी शायरी देख सकते है जिन्हें आप भेजे अपने दोस्तों को शायरी हिंदी में लव और पाए ख़ास रिप्लाई आपके लिए :

दोस्तों को भी मिले दर्द की दौलत या रब
मेरा अपना ही भला हो मुझे मंज़ूर नहीं

आह को चाहिए इक उम्र असर होते तक
कौन जीता है तिरी ज़ुल्फ़ के सर होते तक

तुम ज़माने के हो हमारे सिवा
हम किसी के नहीं तुम्हारे हैं

उदासियों की वजह तो बहुत है जिंदगी में,
पर बेवजह खुश रहने का मजा ही कुछ और है… ..

मुझे याद करने से ये मुद्दआ था
निकल जाए दम हिचकियाँ आते आते

 

 

2 Comments

  1. Sir
    Me prakash saran s’/,purnaram saran vpo.khuri th.sujangarh,distak-churu rajastan pincoad (331506)
    Reliance tavar lagavana ha
    Mo.nambar-9413571558

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*