टैली कैसे सीखे | टैली इन हिंदी

टैली कैसे सीखे | टैली इन हिंदी

 टैली इन हिंदी: टैली एक ऐसा अनूठा टैली एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है जिसकी मदद से कम्प्यूटर पर आसानी से एकाउंट्स के खाते व ledger एंट्रीज करी जाती है जिससे कम्पनी का हिसाब बिना किसी ज़्यादा मुश्किल के कंप्यूटर पर ही किया जाता है | ज़्यादातर आजकल जो भी एकाउंटेंट्स हैं उनको टैली का इस्तेमाल करना आना ही चाहिए क्योंकि ज़्यादातर कंपनियों में टैली का उपयोग ही किया जाता है इसलिए एकाउंटेंट्स टैली कोर्स कर | अगर आप भी सोच रहे हैं की टैली कैसे सीखे तो चिंता न करें बस निचे दी हुई जानकारी पढ़ें|

यह भी देखें :

टैली क्या है ? | Tally in Hindi

टैली एक बहुत कंप्यूटर पर इस्तेमाल होने वाला सॉफ्टवेर है जिसकी मदद से एकाउंटिंग करि जाती है| टैली छोटी व मध्यम साइज बिज़नस कंपनी में एकाउंट्स का हिसाब किताब रखने काम आता है | टैली के Tally ERP version आने के बाद से टैली सॉफ्टवेयर की क्षमता और बढ़ गयी है जिससे लोग आसानी से और एकाउंटिंग एंट्रीज आसानी से कर सकते हैं | Tally ERP 9 आने से एकाउंटिंग स्टैंडर्ड्स कंप्यूटर पर बढ़ गए हैं जिससे कम्पनी के सारे रिकार्ड्स आसानी से रिकॉर्ड किये जा सकते हैं |

यह भी देखें : विंडो फोन पर MP3 गानों को रिंगटोन कैसे बनाएं

टैली कैसे सीखे |  टैली इन हिंदी

अगर आपको जानना है की टैली कैसे सीखे यानी की टैली इन हिंदी तो इसके लिए बस निचे दिए हुए बिन्दुओ को पढ़ें व टैली सॉफ्टवेयर को ऐसे ही इस्तेमाल करें | (tally notes in hindi 7.2 pdf)

लेखांकन के बेसिक मूल्य का ज्ञान

एक अकाउंटेंट बिना बेसिक एकाउंटिंग की जानकारी के कुछ नही कर सकता ऐसे में सॉफ्टवेयर पर काम करने से पहले आपको अपनी एकाउंटिंग के बेसिक्स पर ध्यान देना पड़ेगा | बुनियादी एकाउंट्स की जर्नल एंट्रीज पर ध्यान दें |

टैली का सॉफ्टवेयर डाउनलोड करें

आप Tally Erp 9 या Tally 7.2 को इनस्टॉल कर सकते हैं | यही सॉफ्टवेयर सबसे ज़्यादा प्रमुख तोर पर काम करते हैं | इसलिए आप इनमे से कोई बी सॉफ्टवेयर इनस्टॉल कर सकते हैं |

कंपनी क्रिएशन

  • अगर आपको एकाउंटिंग की जर्नल एंट्रीज आतीं हैं तो अब सॉफ्टवेयर में सबसे पहले अपनी कंपनी क्रिएट करनी होगी | दायीं हाथ पर दिए हुए मेनू में जाए और “Create Company” को सेलेक्ट करें |
  • अब अपनी कंपनी का नाम डालें क्योंकि यह आपकी बैंकिंग डिटेल में भी आती है |
  • अपनी कंपनी के पता, वैधानिक अनुपालन, टेलीफोन नंबर, और ईमेल दर्ज करें |
  • “Auto Backup” को न कर दें ताकि अगर भविष्य में आपका कोई काम सेव न हो पाए तो वह ऑटो बैकअप से सेव हो जाए |
  • अब अपनी करेंसी चुनें |
  • अगर आप टैली अपने एकाउंट्स मैनेज करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं तो “Accounts info” सेलेक्ट करें और अगर आप टैली इन्वेंटरी मैनेजमेंट के लिए कर रहे हैं तो “Accounts with inventory” चुनें |
  • अब अपना फिनांशियल ईयर डालें और बुक्स स्टार्ट करें |

लेजर्स व वोउचर्स क्रिएशन

  • लेजर्स में 2 अकाउंट होते हैं – “Cash” और “Profit and Loss Account” इसमें आप अपनी एंट्रीज कर सकते हैं |
  • ऐसे ही वॉउचर्स में आप फाइनेंसियल ट्रांसक्शन्स शो करते हैं जैसे की सेल ऑफ़ डिपॉजिट्स | टैली में आप कई तरीके के वपॉउचेर्स का इस्तेमाल कर सकते हैं |

5 Comments

  1. अभय जी, आप के द्वारा दी गई जानकारी बहुत ही काबिले तारीफ है, क्या इस पूरी जानकारी को, और स्रोतों के लिए उपयोग के लिए दिया जा सकता है। क्या इसके कोई नियम है। क्रुपा करके इस इमेल पर अपना जवाब भेजें.

  2. Sir maine abhi abhi account sambhala hai lekin mujhe account jyada samajhne nahi aa raha hai Mera kam ek transport ka hai aur mujhe sirf cash payment voucher aur kharch kahi hisab rakhna hai aur jo dealy cash memo bante hai uska hisab rakhna hai hamara har 10 din me hisab hota hai ham har 10 din me computer se D.M nikalte hai lekin firbhi farak ata hai aap bataye mai hisab kaise telly karu aur kaise hisab banau pls sir

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*