आईएएस की तैयारी कैसे करे

आईएएस की तैयारी कैसे करे

आईएएस की तैयारी कैसे करे : अगर आप भी गवर्नमेंट जॉब्स में इंटरेस्ट रखते हैं यानी की रूचि रखते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए हैं | आजकल प्राइवेट जॉब्स में बड़ी परेशानियो का सामना करना पड़ता है इसलिए ज़्यादातर युवा गवर्नमेंट एग्जाम की तैयारीबैंक की तैयारी व आईबीपीएस बैंक परीक्षा की तैयारी करते हैं | इन सब में से देश की सबसे टॉप यानि की प्रमुख गवर्नमेंट जॉब के लिए जो एग्जाम होता है वो होता आईएएस परीक्षा | आज हम आपको आई ए एस की जानकारी देंगे जिनमे शामिल होगा आईएएस बनने के लिए योग्यता, आई ए एस की पढाई, सिविल सेवा मुख्य परीक्षा की तैयारी जिससे आप सीख जाएंगे की आईएएस कैसे बने | अगर आप भी आईएएस अफसर बनना चाहते है तो पढ़े हमारा यह पोस्ट |

आईएएस की तैयारी कैसे करे

आईएएस जो भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए अनुवाद है एक कैरियर है जिसकी अन्य नौकरियों या सेवाओं से तुलना नहीं की जा सकती है। एक आईएएस अधिकारी के पद अपने आप में एक सम्मान की बात है, और इसलिए यह बहुत प्रतिष्ठित है। तो, इन कुछ सुझाव से आप आईएएस परीक्षा में पास होकर आई ए एस अफसर बन सकते हैं |

आईएएस बनने के लिए टिप्स

  • हम में से ज्यादातर का मानना ​​है कि आदेश में एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए, यह कठिन परिश्रम करना महत्वपूर्ण है। हम मानते हैं कि हमें हर दिन 10 घंटे या उससे अधिक का अध्ययन करने की जरूरत है। लेकिन वांछित परिणाम के लिए, आपको यह करने की जरूरत है की पढ़ने के लिए स्मार्ट तरीका अपनाएं, पिछले प्रश्न पेपर्स अच्छी तरह से पढ़ें , चुनिंदा कई किताबें पढ़ें, किताबें और नोट्स मिश्रण कर लघु नोट्स बनाये, समय प्रबंधन से काम लें, मॉक टेस्ट व क्विज से प्रैक्टिस करें |

आईएएस की तैयारी की जानकारी

  • परीक्षा में प्रकट होने के लिए आपको तैयारी लालड़ी शुरू करदेनी चाहिए । पिछले वर्षो के प्रश्न पात्र हल करें उससे आपको पेपर का आईडिया लगेगा। सभी क्षेत्रों में अद्यतन किया जाना आवश्यक है इसके लिए  इतिहास, अर्थव्यवस्था, राजनीति, आदि का अभ्यास करें।
  • अपना एक रूटीन बनाईं और उसे फॉलो करें जिससे आप ज़्यादा देर तक पढाई कर पाएंगे और सिलेबस समय पर ख़तम कर पाएंगे। एक नियमित चार्ट भी अच्छे साधन के रूप में अच्छी तरह से आईएएस के प्रारंभिक पाठ्यक्रम के सबसे स्कोरिंग भागों के लिए तैयार करने में एक केंद्रित दृष्टिकोण को विकसित करने में मदद करता है।
  • अन्त में, छात्र को हमेशा खुद में विश्वास रखना चाहिए , अपने ऊपर कॉन्फिडेंस रखना चाहिए और प्रार्थना कर प्रभु से आशीर्वाद के लिए प्रयास करना चाहिए।

loading...

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*