अस्थमा का आयुर्वेदिक इलाज

अस्थमा का आयुर्वेदिक इलाज

Asthama Ka Ayurvedic Ilaj : जैसा की हम सभी जानते है की हमारे शरीर में अन्य प्रकार की बीमारियां होती है जिसकी वजह से हमारे शरीर को अनेक दुःख दर्द होते है जिसकी वजह से कई प्रकार की बीमारियां या रोग हमारे शरीर में लग जाते है जिनके लिए हमें कई प्रकार की दवाओं का सेवन करता है वैसे आजकल कई इलाज जड़ी बूटियों से भी संभव है इसके लिए हम आपको आज अस्थमा से बचने के उपाय बताते है की इसका इलाज कैसे हो सकता है | वैसे इससे पहले हम अन्य बीमारियां जैसे पेचिश, हार्ट अटैक, लकवा की बीमारी और पेट की गर्मी का इलाज इन सबके बारे में पड़ चुके है तो अब हम आपको अस्थमा के बारे में जानकारी देते है जिनकी मदद से आप जान सकते है की क्यों आपको अस्थमा किन करने से होता है और इस इलाज से बचने के लिये क्या उपाय है ?

यहाँ भी देखे : बदन दर्द का इलाज

दमा या अस्थमा के कारण

Dama Ya Asthma Ke Karan : दमा या अस्थमा होने के मुख्य कारणों में से ये कुछ कारण है जिनसे आप आसानी से जान सकते है की दमा या अस्थमा क्यों होता है :

  1. धूल भरे वातावरण के
  2. पालतू जानवरों से एलेर्जी
  3. रास्ते के धुँए और धूल की वजह से
  4. सुगंधित सौन्दर्य (perfumed cosmetics) की सुगंध से
  5. सर्दी, फ्लू, ब्रोंकाइटिस (bronchitis) और साइनसाइटिस (sinusitis) के संक्रमण के कारण
  6. ध्रूमपान
  7. अधिक मात्रा में शराब पीने से
  8. व्यक्ति विशेष के कुछ विशेष खाद्द-पदार्थों से एलर्जी के कारण
  9. महिलाओं में हार्मोनल बदलाव के कारण
  10. कुछ विशेष प्रकार के दवाओं के कारण
  11. सर्दी के मौसम में ज़्यादा ठंड पड़ जाने के कारण एलर्जी के बिना भी दमा का रोग शुरू हो सकता हैं
  12. तनाव या भय के कारण
  13. अतिरिक्त मात्रा में प्रोसेस्ड या जंक फूड खाने के कारण
  14. ज़्यादा नमक खाने से
  15. आनुवांशिकता

यहाँ भी देखे : झाइयो का इलाज

अस्थमा के लक्षण

Asthama Ke Lakshan : अस्थमा से बचने के लिए कई प्रकार के उपाय हम आपको नीचे बताएँगे लेकिन उससे पहले आप जानेंगे की अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा है तो वो अक्सी जानेंगे की उसे अस्थमा है इसके लिए हम आपको अस्थमा के लक्षण बताते है :

  • साँस लेने में कठिनाई
  • सीने में जकड़न जैसा महसूस
  • दमा का रोगी जब साँस लेता है तब एक घरघराहट जैसा आवाज होती है
  • साँस तेज लेते हुए पसीना आने लगता है
  • बेचैनी-जैसी महसूस होती है
  • सिर भारी-भारी जैसा लगता है
  • सांस लेने में थकावट होना

दमा या अस्थमा के कारण

अस्थमा का सफल उपचार

मेथी
मेथी को एक बड़े बर्तन में दाल कर उबाले और उबलने के बाद उसका पानी छानकर निकल ले फिर अदरक अदरक का पेस्ट एक चलने में निकल कर छान ले और इन दोनों को एक बर्तन में ही मिला ले मिलाने के पश्चात उसमे शहद मिला ले और यह मिश्रण हर व्यक्ति को सुबह उठ कर पीना है अस्थमा की शिकायत में फर्क पड़ता है |

आंवला
आंवले के सेवन से भी अस्थमा की बीमारी दूर हो जाती है इसके लिए आपको आंवले का पाउडर लेना है और उस पाउडर में शहद मिला कर इसका सेवन करना है |

यहाँ भी देखे : सूखी खांसी का इलाज

अस्थमा के उपाय

शहद
वैसे तो शहद एक तरह से बेहद ख़ास तरीका होता है कई प्रकार की बीमारियों से बचें के लिए लेकिन अब इसके लिए आपको एक कटोरी में शहद लेना है और उस शहद को सूंघना है जिससे की दमा की बीमारी जल्द ही ख़तम हो जाती है |

मुलेठी व अदरक
मुलेठी हमारे शरीर के लिए बेहद लाभदायक होती है इसके लिए आपको मुलेठी को अदरक के साथ आधा चम्मच दोनों को पीस कर एक गिलास पानी में डाल कर पीना है जिससे की जल्द ही आपको आराम मिलेगा |

सांस फूलने का इलाज

हल्दी
हल्दी वैसे तो एक एंटीसेप्टिक औषधि के रूप में कार्य करती है लेकिन अस्थमा की बीमारी में भी यह काफी लाभ देती है जिसके लिए आपको हल्दी को सुबह शाम दूध के साथ पीना है |

कॉफी
कॉफी अस्थमा के मरीज़ो के लिए बेहद फायदेमंद साबित होती है क्योकि गरम कॉफी डायरेक्ट श्वास नाली से होकर गुज़रती है जिससे की सांस लेने की प्रक्रिया आसान हो जाती है तो आप सुबह शाम गरम कॉफी का सेवन करे |

You have also Searched for : 

अस्थमा के लिए योग
अस्थमा की दवा
दमा उपचार
पतंजलि अस्थमा मेडिसिन
अस्थमा के लिए टोटके

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*